बेरोजगार आईआईटी ग्रेजुएट निकला ट्विटर पर बलात्कार की धमकी देने वाला | भारत | DW | 11.11.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

बेरोजगार आईआईटी ग्रेजुएट निकला ट्विटर पर बलात्कार की धमकी देने वाला

मुंबई पुलिस ने ट्विटर पर विराट कोहली की 10 महीने की बच्ची का बलात्कार करने की धमकी देने वाले को खोज निकाला है. युवक ने आईआटी से पढ़ाई की है और हैदराबाद में रहता है.

मीडिया में आई खबरों में बताया गया है कि गिरफ्तार किए गए 23 साल के इस युवक का नाम है रामनगेश अकुबातिनी. वो हाल तक एक फूड डिलीवरी ऐप के लिए काम करता था और अब बेरोजगार है. उसने ट्विट्टर पर नकली नाम से वो अकाउंट बनाया था जिससे उसने बलात्कार की धमकी दी थी.

मामला 24 अक्टूबर का है जब दुबई में हो रहे टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट एक मैच में भारतीय टीम पाकिस्तान की टीम से हार गई. हार के बाद कई लोगों ने भारतीय टीम की आलोचना की. टीम में शामिल एकलौते मुस्लिम खिलाड़ी मोहम्मद शमी के खिलाफ विशेष रूप से उनके धर्म को निशाना बनाते हुए नफरत भरी टिप्पणी की गई.

नकली नाम का खाता

शमी के बचाव में जब टीम के कप्तान विराट कोहली ने बयान दिया तो फिर उन्हें इस नफरत का निशाना बनाया गया. इसी क्रम में @criccrazygirl नाम के एक खाते से कोहली की 10 महीने की बेटी के बलात्कार की धमकी दी गई. कोहली के मैनेजर ने इस ट्वीट के खिलाफ मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई, जिसके बाद पुलिस ने हैदराबाद से रामनगेश अकुबातिनी को खोज निकाला.

Symbolbild I Hackerangriff I Kriminalität

नकली नामों से सोशल मीडिया पर खाते बना कर लोगों को धमकाना एक बड़ी समस्या बन गई है

डिप्टी कमिश्नर रश्मी करंदीकर ने पत्रकारों को बताया कि उससे मुंबई में पूछताछ की जाएगी ताकि यह पता लगाया जा सके कि उसने ऐसी टिप्पणी क्यों की. मुंबई साइबर पुलिस के एक और अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस अखबार को बताया कि आरोपी इंटरनेट पर अपनी पहचान को छुपाने के लिए कई नकली नामों का इस्तेमाल करता था.

बढ़ते साइबर अपराध

इससे पहले फेक न्यूज के मामलों की पड़ताल करने वाली वेबसाइट ऑल्ट न्यूज ने दावा किया था कि उसकी पड़ताल में सामने आया है कि यह ट्विटर हैंडल पाकिस्तानी हैंडल होने का दावा करता है लेकिन असल में इसे चलाने वाला व्यक्ति भारतीय है और हैदराबाद में रहता है. ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर ने एक ट्वीट में यह भी बताया कि यह व्यक्ति दक्षिणपंथी विचारों वाले ट्वीट्स को रीट्वीट करता है.

नकली नामों से सोशल मीडिया पर खाते बना कर लोगों को गालियां देना, डराना और धमकाना एक बड़ी समस्या बन गई है. विशेष रूप से महिलाओं को इस तरह के आपराधिक व्यवहार का बहुत सामना करना पड़ता है. इससे पहले भी कई महिला राजनेता, पत्रकार और सेलिब्रिटी इस तरह के व्यवहार की शिकायत कर चुकी हैं.

DW.COM