चुनाव के ठीक पहले ट्रंप पर पूर्व मॉडल ने लगाया यौन शोषण का आरोप | दुनिया | DW | 18.09.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

चुनाव के ठीक पहले ट्रंप पर पूर्व मॉडल ने लगाया यौन शोषण का आरोप

अमेरिका में पूर्व मॉडल एमी डोरिस ने राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप पर साल 1997 में उन्हें जबरदस्ती चूमने और पकड़ने का आरोप लगाया है. यह ताजा आरोप राष्ट्रपति चुनाव के ठीक कुछ हफ्ते पहले सामने आया है.

पूर्व मॉडल एमी डोरिस ने ब्रिटेन के "द गार्जियन" अखबार को बताया कि ट्रंप ने उनके साथ न्यूयॉर्क में यूएस ओपन के दौरान अपने वीआईपी बॉक्स में यौन शोषण किया था. ट्रंप ने अपने वकीलों द्वारा इन आरोपों से इनकार किया है. डोरिस ने अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा, "उन्होंने अपनी जीभ मेरी गर्दन पर लगानी शुरू कर दी और मैं उन्हें पीछे धकेलती रही. और उसके बाद उन्होंने अपनी पकड़ मजबूत कर ली, उन्होंने हर तरफ से मुझे जकड़ लिया."

इंटरव्यू में उन्होंने आगे कहा, "मैं उनकी पकड़ में आ चुकी थी, मैं उससे बाहर नहीं निकल पाई." ट्रंप पर एक दर्जन से अधिक यौन दुराचार के आरोप लग चुके हैं. जिनमें प्रमुख रूप से अमेरिकी स्तंभकार ई जीन कैरोल ने 1990 में एक डिपार्टमेंटल स्टोर के ड्रेसिंग रूम में बलात्कार का आरोप लगाया था. हालांकि, ट्रंप ने कैरोल के आरोप को झूठा बताया था.

डोरिस के साथ जब यह कथित घटना हुई थी तब वह 24 साल की थीं, ट्रंप उस वक्त 51 साल के थे और उनकी दूसरी शादी हो चुकी थी. डोरिस ने आरोप लगाने के साथ अखबार को कई तस्वीरें भी पेश की जिनमें वे ट्रंप के साथ नजर आ रही हैं. कई और लोगों ने डोरिस के बयान का समर्थन किया है यह बताते हुए कि उन्होंने उस समय इस घटना के बारे में बताया था.

USA Donald Trump und Marla Maples

दूसरी पत्नी के साथ ट्रंप यूएस ओपन देखते हुए.

डोरिस का कहना है कि उन्होंने ट्रंप को रुकने के लिए कहा लेकिन उन्होंने उनकी नहीं सुनी. डोरिस ने कहा, "मुझे वास्तव में ज्यादती का एहसास हुआ." जब उनसे पूछा गया कि इस घटना के बाद भी वे ट्रंप के आसपास क्यों मौजूद रहीं, तो उन्होंने कहा, "यह तभी होता है जब कुछ दर्दनाक आपके साथ होता है. आप जम जाते हैं."

ट्रंप के वकीलों ने अखबार को कहा है कि डोरिस ने जो घटनाक्रम बताया उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता है. साथ ही वकील का कहना है कि अगर ऐसा कुछ हुआ है तो इस घटना के गवाह होने चाहिए. वकीलों का कहना है कि डोरिस का आरोप राजनीति से प्रेरित हो सकता है क्योंकि 3 नवंबर को चुनाव में ट्रंप का मुकाबला जो बाइडेन से है.

डोरिस अब 48 साल की हो गई हैं, उनका कहना है कि उन्होंने अब सामने आने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि वे अपनी जुड़वां बेटियों के लिए रोल मॉडल बनना चाहती है. उन्होंने एक साल पहले अपनी कहानी अखबार को बताई थी लेकिन उसे छापने से मना किया था. उन्होंने कहा, "उनका इस तरह से बचे रहना मुझे बीमार करता है."

गार्जियन अखबार ने कहा है कि उसने जो रिपोर्ट छापी है वह उस पर कायम है.

एए/सीके (एएफपी, रॉयटर्स)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन