1. कंटेंट पर जाएं
  2. मेन्यू पर जाएं
  3. डीडब्ल्यू की अन्य साइट देखें
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन
तस्वीर: Gavriil Grigorov/AP Photo/picture alliance
विवादयूक्रेन

रूस की पश्चिम को सीधी चेतावनी

५ अक्टूबर २०२२

रूस का कहना है कि अमेरिका और पश्चिमी देश यूक्रेन को हथियार देकर सीधी सैन्य टक्कर का जोखिम बढ़ा रहे हैं. अमेरिका ने यूक्रेन को 62.5 करोड़ डॉलर की सहायता देने का एलान किया है. रूस की चेतावनी इसी के बाद आई है.

https://p.dw.com/p/4Hn7a

अमेरिका में तैनात रूस के राजदूत अनातोली आंतनोव ने मैसेजिंग ऐप टेलीग्राम में कहा, "अमेरिका और उसके साझेदारों की सैन्य सप्लाई ना सिर्फ दीर्घकालीन रक्तपात और नई जनहानि को बढ़ावा देगी, बल्कि यह रूस और पश्चिमी देशों के बीच सीधे सैन्य संघर्ष का खतरा भी बढ़ाएगी."

यूक्रेन को मिल रहे पश्चिमी हथियारों को लेकर चेतावनी देते हुए आंतनोव ने कहा, "हम इसे अपने देश के रणनीतिक हितों के लिए फौरी खतरे की तरह देख रहे हैं."

परमाणु हथियारों को लेकर पुतिन के दिमाग में क्या चल रहा है

बाइडेन ने कहा यूक्रेन को सैन्य मदद देता रहेगा अमेरिका
बाइडेन ने कहा यूक्रेन को सैन्य मदद देता रहेगा अमेरिकातस्वीर: Peter Zay/Anadolu Agencypicture alliance

यूक्रेन को अचूक अमेरिकी हथियारों की नई खेप

आंतनोव के बयान से ठीक पहले मंगलवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन को 62.5 करोड़ डॉलर का नया सुरक्षा राहत पैकेज देने का एलान किया. इसके तहत अमेरिका कीव को हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम लॉन्चर देगा. इसी सिस्टम के सहारे हाल के दिनों में यूक्रेनी सेना ने रूसी फौज को पैर पीछे खींचने पर मजबूर किया है.

यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के साथ टेलीफोन पर बात करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन और उप राष्ट्रपति कमला हैरिस ने साफ किया कि वॉशिंगटन यूक्रेन से तोड़े गए इलाकों को कभी मान्यता नहीं देगा. अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय द व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी कर यह भी कहा कि बाइडेन, "चाहे जितना समय लग जाए, रूस के आक्रमण से खुद की रक्षा करने के लिए यूक्रेन को मदद देते रहेंगे."

टूटते यूक्रेन पर हमला, रूस पर हमला माना जाएगा: रूस

यूक्रेनी सेना को मिले पश्चिमी हथियार
यूक्रेनी सेना को मिले पश्चिमी हथियारतस्वीर: AeroVironment/abaca/picture alliance

छोड़े इलाके पर फिर लौटेगी रूसी सेना

रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन का कहना है कि उसकी सेना हाल के दिनों में जिस इलाकों से हटी है, उन्हें फिर से वापस लिया जाएगा. बुधवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन से तोड़े गए चार इलाकों को "हमेशा के लिए" रूस में मिलाने के कानूनी दस्तावेज पर दस्तखत कर दिए.

इस दौरान राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवक्ता दिमित्री पेशकोव ने हाल में लगे सैन्य झटकों को फिर से जीत में बदलने का एलान किया, "दिये गये इलाके वापस लिये जाएंगे."

बीते दो हफ्तों में यूक्रेनी सेना ने पूर्वी यूक्रेन के कई अहम कस्बों को फिर से अपने नियंत्रण में ले लिया है. इनमें लिमान जैसा महत्वपूर्ण रेल ठिकाना भी है. रूस भले ही डोनेत्स्क, लुहांस्क, जापोरिझिया और खेर्सोन को खुद में मिलाने का दावा कर रहा हो, लेकिन सच्चाई यह है कि जापोरिझिया का बड़ा इलाका, उत्तरी खेर्सोन और पश्चिमोत्तर डोनेत्स्क अब भी उसकी सैन्य नियंत्रण से बाहर हैं.

डर के कारण मुल्क छोड़ते रूसी पुरुष

डोनेत्स्क में अपना इलाका फिर से हासिल करता यूक्रेन
डोनेत्स्क में अपना इलाका फिर से हासिल करता यूक्रेनतस्वीर: Metin Aktas /AA/picture alliance

कीव के आस पास हमला

इस बीच रूस ने पहली बार यूक्रेन की राजधानी कीव के आस पास कामिकाजे ड्रोन से हमले किए हैं. कीव के गर्वनर ओलेक्सी कुलेबा के मुताबिक, "छह बार निशाना साधा गया और धमाके किए गए." टेलीग्राम पर जानकारी देते हुए कुलेबा ने कहा कि आधारभूत संरचना को निशाना बनाया गया है.

यूक्रेन के एक टेलीविजन चैनल से बात करते हुए यूक्रेनी सेना के प्रवक्ता यूरी इहनात बताया कि दक्षिण की तरफ से भी 12 ईरानी ड्रोन टारगेट की तरफ बढ़े. इनमें से छह को मार गिराया गया. हालांकि इन दावों की स्वतंत्र जांच करना मुश्किल है.

ओएसजे/एनआर (डीपीए, एएफपी, रॉयटर्स)  

संबंधित सामग्री को स्किप करें

संबंधित सामग्री

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी को स्किप करें

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी

संदिग्ध ताकत के जरिये सरकार पलटने की तैयारी में थे

जर्मनी में चरमपंथी ठिकानों पर हजारों पुलिसकर्मियों का छापा

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें को स्किप करें

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें

होम पेज पर जाएं