मशहूर भौतिकशास्त्री स्टीफन हॉकिंग का निधन | विज्ञान | DW | 14.03.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

मशहूर भौतिकशास्त्री स्टीफन हॉकिंग का निधन

जाने माने ब्रिटिश भौतिकशास्त्री स्टीफन हॉकिंग का 76 साल की उम्र में निधन हो गया है. उन्हें हमेशा इस बात के लिए याद किया जाएगा कि मुश्किल समझी जाने वाली वैज्ञानिक गुत्थियों को उन्होंने आम लोगों के लिए समझने लायक बनाया.

स्टीफन हॉकिंग एक जाने माने गणितज्ञ, भौतिकशास्त्री और एक पॉप कल्चर आइकन थे. उनके तीन बच्चों ने एक बयान में कहा, "हमें यह बताते हुए बहुत दुख हो रहा है कि हमारे प्यारे पिता का आज निधन हो गया. वह एक महान वैज्ञानिक और एक अद्भुत इंसान थे जिनका काम और विरासत बहुत सालों तक जिंदा रहेगी. उनके साहस, बुद्धिमत्ता के साथ जिजीविषा और हास्य विनोद ने दुनिया भर के लोगों को प्रेरित किया."

टूटा भौतिकी का एक विलक्षण हॉकिंग तारा

वो बीमारी जिससे 55 साल तक हॉकिंग लड़ते रहे

हॉकिंग ने कैम्ब्रिज में अपने घर में अंतिम सांस ली. जैसे ही उनकी मौत की खबर फैली तो दुनिया भर से उन्हें श्रद्धांजलि देने का तांता लग गया. अंतरिक्ष विज्ञानी नील डेग्रासे टायसन ने ट्विटर पर लिखा कि हॉकिंग के निधन से एक बौद्धिक खालीपन पैदा हो गया. 


अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री स्कॉट केली ने हॉकिंग के निधन को समूची मानवता के लिए हानि बताया. 


हॉकिंग एमियोट्रोफिक लेटरल स्कलेरोसिस नाम की बीमारी से पीड़ित थे. इस लाइलाज बीमारी के कारण उनका लगभग समूचा शरीर लकवाग्रस्त था. 1985 में गले की सर्जरी के बाद वह बातचीत करने के लिए इलेक्ट्रोनिक वॉइस सिंथेसाइजर का सहारा लेते थे. 

एके/एनआर (एपी, डीपीए)

DW.COM

विज्ञापन