लखीमपुर हिंसा के विरोध में किसानों का रेल रोको आंदोलन | भारत | DW | 18.10.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

लखीमपुर हिंसा के विरोध में किसानों का रेल रोको आंदोलन

संयुक्त किसान मोर्चा सोमवार को 6 घंटे का देशव्यापी रेल रोको आंदोलन कर रहा है. किसान संगठनों के आंदोलन के कारण उत्तर भारत में 30 स्थानों पर ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई.

लखीमपुर हिंसा मामले पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को भारत सरकार में मंत्री पद से हटाकर तत्काल गिरफ्तार किए जाने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार को 6 घंटे के देशव्यापी रेल रोको आंदोलन का आह्वान किया है. रेल रोको सुबह 10 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक होगा.

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा रेल रोको आह्वान पर हरियाणा के सोनीपत और फतेहाबाद रेलवे स्टेशनों की पटरियों पर किसानों ने अपना डेरा डाल दिया. रेल रोको के तहत हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश समेत कुछ राज्यों के रेलवे स्टेशनों पर किसान विरोध स्वरूप रेल पटरियों पर बैठ गए.

किसानों के रेल रोको आंदोलन के कारण ट्रेन सेवा पर भी खासा असर दिखा है और आम यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

भारतीय रेलवे ने यूपी-दिल्ली रूट की कुछ ट्रेनें रद्द व डायवर्ट की है.

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने पत्रकारों से कहा, "ये अलग-अलग जिलों में अलग-अलग जगह होगा. पूरे देश में वहां के लोगों को पता रहता है ​कि हमें कहां ट्रेन रोकनी है. भारत सरकार ने अभी हमसे कोई बात नहीं की है."

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे अलग-अलग किसान संगठनों के संयुक्त मंच संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बयान में कहा कि जब तक लखीमपुर खीरी मामले में इंसाफ नहीं मिल जाता प्रदर्शन और तेज होगा. मोर्चा ने बयान में कहा, "रेल रोको प्रदर्शन के दौरान सोमवार को 10 बजे से शाम चार बजे तक सभी मार्गों पर छह घंटे के लिए रेल यातायात को रोका जाएगा."

बयान के मुताबिक, "गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त कर गिरफ्तार करने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार राष्ट्रव्यापी रेल रोको कार्यक्रम की घोषणा की है ताकि लखीमपुर खीरी जनसंहार में न्याय मिल सके."

किसानों के आंदोलन को देखते हुए पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में सुरक्षा कड़ी की गई है.

लखनऊ पुलिस ने रेल रोको आंदोलन में हिस्सा लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी है. लखनऊ पुलिस ने धारा 144 लगाई है और चेतावनी दी है कि अगर कोई सामान्य स्थिति को बाधित करेगा तो पुलिस उस पर कार्रवाई करेगी.

किसान अजय मिश्रा को केंद्र सरकार में मंत्रि‍परिषद से बर्खास्त करने की मांग करते आ रहे हैं. मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा लखीमपुर खीरी हत्याकांड का मुख्य आरोपी है. हिंसा में चार किसान समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी. आरोप है कि मिश्रा के बेटे ने जीप से किसानों को रौंद डाला था.

वीडियो देखें 02:29

सूखे के दौर में कैसे हो सिंचाई

DW.COM

संबंधित सामग्री