महामारी के समय खुद को रखें सेहतमंद, जाने डॉक्टरों की सलाह | दुनिया | DW | 26.04.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

महामारी के समय खुद को रखें सेहतमंद, जाने डॉक्टरों की सलाह

डॉक्टरों का कहना है कि लोग कोरोना वायरस महामारी के समय में आइसोलेशन में रहते हुए भी स्वस्थ रह सकते हैं. उनके मुताबिक अच्छी नींद और पर्याप्त मात्रा में पानी पीना लाभदायक साबित हो सकता है.

कोरोना वायरस महामारी के समय में लोग अपने अपने घरों में कैद हैं लेकिन जो बीमार हैं उनका अस्पतालों में इलाज चल रहा है. डॉक्टरों का कहना है कि लोग सेहतमंद रह कर स्वास्थ्य सेवाओं पर और दबाव डालने से बच सकते हैं. दुनिया भर में 28 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. दुनिया भर के अस्पतालों में कोरोना के मरीजों का इलाज चल रहा है और इस वजह से स्वास्थ्य सेवाओं पर भारी दबाव है.

ऐसी स्थिति में लोगों को खुद से स्वस्थ रहने की कोशिश करनी होगी. कुछ चीजों पर ध्यान दे कर रोजमर्रा की बीमारियों से मुक्त रहा जा सकता है. विशेषज्ञों का कहना है कि जो लोग आइसोलेशन में अपने घरों में हैं उन्हें अपनी रोज की आदतों में उचित नींद, पर्याप्त मात्रा में पानी, पौष्टिक भोजन, शारीरिक गतिविधि, आभासी सामाजिक संपर्क और सीमित शराब का ही सेवन करना चाहिए.

ज्यादातर लोग आज कल घर में ही रह रहे हैं ऐसे में सेहत से जुड़ी अच्छी आदतों पर ध्यान दे कर अपने मन और शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है. अमेरिका के डलास स्थित मनोविज्ञानी डॉ. केविन गिल्लिलैंड कहते हैं, "जब मैं सुबह उठता हूं तो खुद से पूछता हूं कि मुझे किन-किन चीजों पर नजर रखनी है. मैंने कितनी नींद ली? मैं भोजन में क्या लेने वाला हूं?"

सिर्फ शरीर ही नहीं मन को प्रसन्न और उत्साह से भरपूर रखना भी जरूरी है. विशेषज्ञों का कहना है कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए वे सिफारिश करते हैं कि न्यूज दिन में एक या दो बार ही देखें. वे सलाह देते हैं कि ऐसी फिल्में देखें जो आराम देती हैं. परिवार के साथ वीडियो चैट करें और जहां संभव हो बाहर जाएं. विशेषज्ञों की राय है कि चिंताजनक विचारों को स्वीकार करने की बजाय उन्हें दबा देना चाहिए और जल्दी से आगे बढ़ जाना चाहिए.

अटलांटा के मनोविज्ञानी डॉ. लोरी व्हाटले कहती हैं, "मुझे लगता है कि यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम अभी अपनी भावनाओं के बारे में बात करें. हमें पता है कि यह समय भी पार हो जाएगा. हमें संयमित होना चाहिए. हमें वह काम करना चाहिए जिसे करने में हमें आनंद मिलता है." डॉ. लोरी के मुताबिक स्वस्थ रहने के लिए कसरत करें, ध्यान लगाएं, सेहतमंद भोजन करें, नींद लें और पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं. वह कहती हैं, "यह वह चीजें हैं जिन पर हम नियंत्रण कर सकते हैं."

कोलंबिया यूनिवर्सिटी में इम्यूनोलॉजी के प्रोफेसर डॉ. विंसेंट रकानिएलो कुछ सावधानियों की बात करते हैं. उनका कहना है कि हाथ धोना, चेहरा को नहीं छूना और शारीरिक दूरी का अभी ज्यादा महत्व हैं. दरवाजे की कुंडी जैसी चीजों को छूने के बाद हाथ धोना जरूरी है. कोलंबिया यूनिवर्सिटी में मेडिकल सेंटर में महामारी विज्ञान के प्रोफेसर डॉ. स्टेफन मोर्स कहते हैं कि फोन को डिसइंफेक्टेंट वाइप्स से साफ करना भी अच्छा आइडिया है. विशेषज्ञों की राय है कि पार्सल और राशन की पैंकिंग को खोलने के बाद हाथ धोना जरूरी है और बाहरी पैकिंग को फेंक देना चाहिए.

एए/एनआर (रॉयटर्स)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन