1. कंटेंट पर जाएं
  2. मेन्यू पर जाएं
  3. डीडब्ल्यू की अन्य साइट देखें
तस्वीर: bdnews24.com
समाज

बांग्लादेश: हिंदुओं पर हमले की निंदा, विरोध प्रदर्शन

१९ अक्टूबर २०२१

अमेरिका ने बांग्लादेश में हाल में हुए हिंदू समुदाय पर हमलों की निंदा की है. दूसरी तरफ राजधानी ढाका में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा के विरोध में प्रदर्शन हुए.

https://www.dw.com/hi/hundreds-protest-in-bangladesh-over-religious-violence/a-59544959

सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर इस्लाम के खिलाफ कथित पोस्ट के बाद भड़की हिंसा के विरोध में सोमवार को भी ढाका में विरोध प्रदर्शन जारी रहा. बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान राजधानी ढाका समेत अन्य शहरों में पूजा पंडालों, मंदिरों और हिंदू अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा हुई थी.

रविवार को भी हिंदुओं के खिलाफ हिंसा हुई. रविवार की रात हिंदू परिवारों के 26 घर जला दिए गए. हालांकि सरकार ने इससे पहले इस तरह के हमले को लेकर चेतावनी जारी की थी, बावजूद इसके हिंदुओं के घरों को निशाना बनाया गया.

निशाने पर हिंदू

हिंसा के बाद संयुक्त राष्ट्र ने बांग्लादेश सरकार से इसे रोकने के लिए कार्रवाई करने का आग्रह किया है. संयुक्त राष्ट्र ने सोमवार को कहा कि बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं पर हमले उसके संविधान में निहित मूल्यों के खिलाफ हैं. यूएन ने कहा कि प्रधानमंत्री शेख हसीना की सरकार को घटनाओं की निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने की जरूरत है.

बांग्लादेश में संयुक्त राष्ट्र की रेजिडेंट कोऑर्डिनेटर मिया सेप्पो ने कहा, "बांग्लादेश में हिंदुओं पर हालिया हमले, सोशल मीडिया पर लगातार किए जा रहे अभद्र भाषा का प्रयोग संविधान के मूल्यों के खिलाफ हैं और इसे रोकने की जरूरत है. हम सरकार से अल्पसंख्यकों की सुरक्षा और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने का आह्वान करते हैं. हम सभी से समावेशी सहिष्णु बांग्लादेश को मजबूत करने के लिए हाथ मिलाने का आह्वान करते हैं."

इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बांग्लादेश में जारी हिंसा पर कहा, "धर्म चुनने की आजादी, मानवाधिकार है. दुनिया का प्रत्येक व्यक्ति, फिर चाहे वह किसी भी धर्म या आस्था को मानने वाला हो, उसका अपने अहम पर्व मनाने के लिए सुरक्षित महसूस करना जरूरी है."

प्रवक्ता ने कहा, "बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोगों पर हाल में हुए हमलों की हम निंदा करते हैं."

Bangladesch Dhaka | Proteste gegen Gewalt | Hindus
ढाका में विरोध प्रदर्शन करते हिंदू समुदाय के सदस्य तस्वीर: Syed Mahamudur Rahman/NurPhoto/picture alliance

ढाका में विरोध प्रदर्शन

सोमवार को इस्कॉन इंटरनेशनल के सदस्यों और ढाका यूनिवर्सिटी के हजारों छात्रों और शिक्षकों ने शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किया और न्याय की मांग की.

13 अक्टूबर से हिंदू मंदिरों पर हमले तेज हो गए हैं. सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ी थी कि चिट्टगांव के कोमिला इलाके में पूजा पंडाल में मूर्ति के चरणों में कुरान रखी है. जिसके बाद कई जगह हिंसक घटनाएं हुईं. स्थानीय मीडिया ने बताया कि छह हिंदू अलग-अलग घटनाओं में मारे गए, लेकिन आंकड़ों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं की जा सकी. स्थानीय मीडिया ने हिंसा की कवरेज को कम करके दिखाया. ऐसा माना जा रहा है कि यह सरकार के दबाव में किया गया है.

सोमवार को गृह मंत्रालय ने सात पुलिस अधिकारियों को हिंसा पर काबू पाने में असफल होने पर ट्रांसफर कर दिया है.

एए/वीके (एपी, एएफपी)

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी को स्किप करें

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी

इटली में संसदीय चुनाव

इटली में आम चुनाव, यूरोप का इम्तिहान

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें को स्किप करें

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें

होम पेज पर जाएं