दोहा एयरपोर्ट पर महिलाओं की आपत्तिजनक जांच पर ऑस्ट्रेलिया खफा | दुनिया | DW | 26.10.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

दोहा एयरपोर्ट पर महिलाओं की आपत्तिजनक जांच पर ऑस्ट्रेलिया खफा

लावारिस नवजात शिशु की मां का पता लगाने के लिए दोहा के हवाई अड्डे पर महिलाओं की जांच की गई. लगभग एक महीने बाद ऑस्ट्रेलिया ने ये मामला कतर का अधिकारियों के साथ उठाया है.

दोहा के हमाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अक्टूबर की शुरुआत में हुई एक घटना से ऑस्ट्रेलिया और कतर के बीच तनाव पैदा हो गया है. दरअसल 2 अक्टूबर को कतर एयरवेज की सिडनी जाने वाले उड़ान को तब रोकना पड़ा जब एक नवजात शिशु एयरपोर्ट पर लावारिस पाया गया. बच्चे की मां का पता लगाने के लिए एयरपोर्ट अधिकारियों ने कई महिलाओं की जांच की. इनमें 13 ऑस्ट्रलियाई महिलाएं भी थीं.

ऑस्ट्रेलिया की सेवन नेटवर्क न्यूज एजेंसी के अनुसार महिलाओं की रनवे पर मौजूद एक एम्बुलेंस में जांच की गई. प्लेन पर सवार एक व्यक्ति वुल्फगांग बाबेक ने बताया कि हर उम्र की महिलाओं की जांच की गई, "जब महिलाएं वापस आईं, तब वे सब परेशान दिखीं. उनमें से एक युवा महिला तो रो रही थी और लोगों को यकीन ही नहीं आ रहा था कि ये सब हो रहा है." बाबेक के अनुसार उन्होंने महिलाओं से बातचीत भी की, "उन्होंने मुझे बताया कि उन्हें अपने अंडरवेयर उतारने को कहा गया या फिर बोला गया कि कमर के नीचे सब कपड़े उतारें ताकि जांच की जा सके कि उन्होंने हाल में बच्चा जना है या नहीं."

बाबेक के अनुसार विमान को तीन घंटे के लिए रोका गया और इस दौरान ना तो उन्हें उड़ान में देरी की कोई वजह बताई गई और ना ही महिलाओं को विमान से उतारने की.

कतर एयरवेज और कतर सरकार ने अब तक इस पर कोई प्रतिक्रया नहीं दी है. लेकिन ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मरीस पेन ने सोमवार को इसे "बेहद परेशान करने वाली घटना" बताया है. उन्होंने कतर अधिकारियों के इस रवैये को अनुचित बताते हुए कहा, "यह बहुत, बहुत ही परेशान करने वाली, आपत्तिजनक और चिंता पैदा करने वाली घटना है. मैंने अपने जीवन में कभी ऐसा कुछ नहीं सुना है. हमने इस विषय में कतर अधिकारीयों को अपना रुख साफ बता दिया है."

पेन ने कहा कि आगे कोई भी कदम उठाने से पहले ऑस्ट्रलिया कतर के अधिकारियों के जवाब का इंतजार करेगा. उन्होंने यह भी कहा कि यह मामला संघीय पुलिस को सौंप दिया गया है लेकिन इस बारे में जानकारी नहीं दी कि ऑस्ट्रेलिया पुलिस इस मामले में किस तरह की कार्रवाई कर सकती है. पुलिस विभाग ने भी फिलहाल इस पर कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है.

बच्चे की मां का अब भी पता नहीं चल पाया है. मध्य पूर्व के अन्य देशों की तरह कतर में भी शादी के बाहर शारीरिक संबंध बनाना अपराध है. ऐसे में कई बार महिलाएं अपनी गर्भावस्था को छिपाने की कोशिश करती हैं और विदेश में जा कर बच्चा पैदा करती हैं या गर्भपात कराती हैं. कई मामलों में माएं अपने नवजात शिशु को लावारिस छोड़ देती हैं.

आईबी/एमजे (एपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन