फेसबुक ने शुरू किया ऑनलाइन दुकानों के लिए नया मंच  | दुनिया | DW | 20.05.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

फेसबुक ने शुरू किया ऑनलाइन दुकानों के लिए नया मंच 

व्यापारियों के लिए फेसबुक एक नया मंच शुरू कर रहा है जिस पर उत्पाद दिखाए भी जा सकेंगे और उनकी लाइव बिक्री भी हो सकेगी. पर क्या फेसबुक इससे मिलने वाले डाटा का प्रबंधन जिम्मेदारी के साथ करेगा?

फेसबुक इंटरनेट पर खरीदारी के लिए एक नया मंच शुरू कर रहा है जिस की मदद से व्यापारी ऐसी ऑनलाइन दुकानें खोल पाएंगे जिन तक फेसबुक या इंस्टाग्राम के जरिए पहुंचा जा सकेगा. इस मंच पर इन दुकानों के उत्पाद दिखाए भी जा सकेंगे और उनकी लाइव बिक्री भी हो सकेगी. यह जानकारी फेसबुक ने मंगलवार 19 मई को एक विज्ञप्ति में दी.

फेसबुक के संस्थापक और सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कहा कि इस प्रोजेक्ट को कोरोना वायरस संकट के दौरान नुकसान झेल रहे छोटे व्यापारियों की मदद के लिए बनाया गया है. उन्होंने कहा, "कई छोटे व्यापार डूब रहे हैं, उन्हें नहीं मालूम कि वो कैसे इस संकट के काल में अपने व्यापार को बचा पाएंगे". उन्होंने यह भी कहा कि इनमें से कई व्यापारी पहली बार ऑनलाइन जा रहे हैं.

जकरबर्ग ने यह भी जानकारी दी कि व्यापारियों से इस नए मंच पर अपनी ऑनलाइन दुकानें खोलने के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा. उन्होंने ये माना कि दुकान पर लेनदेन होने पर शुल्क जरूर लगेगा, लेकिन फिर भी फेसबुक के लिए कमाई का प्राथमिक जरिया विज्ञापन ही है. वाकई, फेसबुक की लगभग पूरी की पूरी कमाई विज्ञापनों से ही आती है और खरीददारी का यह नया मंच कंपनी को ग्राहकों के व्यवहार के बारे में जानकारी देगा.

विज्ञप्ति में कंपनी ने कहा भी, "चूंकि सारी गतिविधियां हमारी सेवाओं के बीच ही होंगी, हम ये देख सकेंगे कि आप किस तरह की दुकानों से इंटरैक्ट करते हैं, किस तरह के उत्पादों में आप की दिलचस्पी है, आप क्या खरीदते हैं, इत्यादि". लेकिन जकरबर्ग ने ये भी कहा कि ये जानकारी उपभोक्ता के फेसबुक पर दोस्तों से साझा करने की कोई योजना नहीं है और सिर्फ उपभोक्ता, उनकी दुकान और फेसबुक तक ये जानकारी उपलब्ध होगी.

लेकिन, जानकारों का मानना है कि इस जानकारी से फेसबुक को यह मौका मिल सकता है कि वो सही उपभोक्ताओं तक विज्ञापनों को सीधा पहुंचाने की अपनी क्षमता को और बेहतर कर पाएगा. इससे फेसबुक का इस्तेमाल करने वालों को चिंता हो सकती है, क्योंकि कंपनी पर पहले भी डाटा के इस्तेमाल को लेकर जनता और दुनिया भर की सरकारों का दबाव पड़ा है और कई देशों में उस पर निजता के उल्लंघन के लिए जुर्माना भी लगा है.

सीके/एए (डीपीए)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन