पाकिस्तान ने शांति की बात कह मिसाइल का परीक्षण किया | दुनिया | DW | 23.05.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

पाकिस्तान ने शांति की बात कह मिसाइल का परीक्षण किया

आम चुनाव में बीजेपी की बड़ी जीत के बीच पाकिस्तान ने मिसाइल का परीक्षण किया है और साथ ही कहा है कि वह भारत के साथ शांतिवार्ता शुरू करना चाहता है.

Pakistan Nationalfeiertag 2019 in Islamabad | Shaheen II Rakete (Getty Images/AFP/F. Naeem)

फाइल

भारत के आम चुनाव पर पाकिस्तान के साथ तनाव का भी साया था, खासतौर से सत्ताधारी दल ने इसे मुद्दा बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. अब पाकिस्तान ने नई सरकार के साथ बातचीत की इच्छा जताते हुए मिसाइल का परीक्षण किया है.

पाकिस्तान ने सतह से सतह पर मार करने वाली शाहीन 2 का परीक्षण किया है. यह मिसाइल पारंपरिक हथियारों के साथ ही परमाणु हथियार भी ले जाने में सक्षम है. इसकी रेंज करीब 2250 किलोमीटर बताई जा रही है. पाकिस्तान की सेना ने कहा है, "शाहीन 2 उच्च क्षमता वाला मिसाइल है जो पाकिस्तान की इलाके में स्थिरता बनाए रखने के लिए रणनीतिक जरूरतों को पूरा करता है."

बुधवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में अपने भारतीय समकक्ष के साथ एक छोटी मुलाकात की थी. यह मुलाकात शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के दौरान अलग से हुई. मुलाकात के बाद कुरैशी ने कहा, "हम कभी कड़वी बात नहीं कहते, हमें दो अच्छे पड़ोसियों की तरह रहना चाहिए और सभी विवादित मुद्दों को बातचीत के जरिए सुलझाना चाहिए."

दोनों देशों के बीच पिछले कुछ समय से तनाव बढ़ा हुआ है. खासतौर से पुलवामा हमले के बाद दोनों देश युद्ध जैसी स्थिति में पड़ गए थे. आतंकवादी हमले में बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों की मौत के बाद भारत ने पाकिस्तान के इलाके में जा कर आतंकवादी गुट जैश ए मोहम्मद के कथित ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया. इस संगठन ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी. इसके बाद पाकिस्तान ने भी अपने लड़ाकू विमानों को भारत की सीमा में भेजा. इस दौरान भारत का एक विमान गिर गया और उसके पायलट को पाकिस्तान की सेना ने पकड़ लिया.

BJP Anhänger feiern in Neu Delhi Wahlergebnis (Reuters/A. Abidi)

पाकिस्तान ने मिसाइल परीक्षण ऐसे दिन किया है जब भारत में चुनाव के नतीजे आए हैं.

अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद पाकिस्तान ने पायलट को भारत को सौंप दिया और उसके बाद आगे हमले भी रोक दिए. हालांकि तनाव अभी भी बना हुआ है और दोनों पक्षों की तरफ से बीच बीच में गोलाबारी हुई है. पाकिस्तान ने अपनी वायुसीमा भी बंद कर रखी है. इस वजह से भारत आने वाली अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को लंबा रास्ता लेना पड़ रहा है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कई बार भारत के साथ बातचीत करने की पेशकश कर चुके हैं. अधिकारियों का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि चुनाव खत्म होने के बाद दोनों देशों के बीच बातचीत शुरू होगी. इमरान खान ने पिछले महीने खुद ही कहा था कि अगर नरेंद्र मोदी और बीजेपी की सत्ता में वापसी होती है तो बातचीत शुरू होने के ज्यादा आसार हैं.

एनआर/एमजे (रॉयटर्स)

_______________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन