इस साल के नोबेल विजेताओं को मिलेगी ज्यादा रकम | दुनिया | DW | 24.09.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

इस साल के नोबेल विजेताओं को मिलेगी ज्यादा रकम

इस साल नोबेल पुरस्कार जीतने वालों को पिछले साल के मुकाबले ज्यादा रकम मिलेगी. हाल के सालों में हर क्षेत्र में पुरस्कार के साथ नब्बे लाख स्वीडिश क्रोनर की राशि दी जाती रही है, लेकिन इस बार एक करोड़ क्रोनर दिए जाएंगे.

इस साल के नोबेल पुरस्कारों की घोषणा से ठीक पहले नोबेल फाउंडेशन ने राशि बढ़ाने की घोषणा की है. नोबेल फाउंडेशन के कार्यकारी निदेशक लार्स हाइकेंस्टन ने कहा, "इस साल नोबेल विजेताओं की उपलब्धियों का उत्सव विशेष रूप से महत्वपूर्ण होगा. ये विजेता हमें भविष्य के लिए आशा देते हैं." इस साल पुरस्कार के तहत एक करोड़ स्वीडिश क्रोनर (11 लाख डॉलर) की राशि दी जाएगी. 

नोबेल फाउंडेशन ही स्वीडिश उद्योगपति और डायनामाइट के आविष्कारक अल्फ्रेड नोबेल की संपत्ति को संभालता है, जिनकी वसीयत के अनुसार हर साल साहित्य, चिकित्सा शास्त्र, भौतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र, शांति और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में अमूल्य योगदान देने वालों को दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया जाता है.

फाउंडेशन के बयान में कहा गया है, "नोबेल फाउंडेशन की वित्तीय स्थिति को मजबूत करने के लिए हाल के सालों में जो काम किया गया, उसी के चलते पुरस्कार की राशि को बढ़ाना संभव हो पाया है." फाउंडेशन का कहना है कि 2012 से उसकी निवेश पूंजी बढ़कर 4.6 अरब क्रोनर हो गई है जो पहले तीन अरब क्रोनर से भी कम थी. इस तरह निवेश पूंजी में हर साल नौ प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

ये भी पढ़िए: दुनिया के प्रतिष्ठित अवॉर्ड

नोबेल पुरस्कार के तहत मिलने वाली राशि को 2011 में एक करोड़ क्रोनर से घटाकर 80 लाख क्रोनर कर दिया गया था. तब इसके वित्तीय प्रबंधन को बेहतर बनाने के लिए फाउंडेशन शुरू किया गया और इसके अगले साल से ही फाउंडेशन की वित्तीय स्थिति बेहतर होने लगी.

नोबेल विजेताओं के नामों की घोषणा आम तौर पर अक्टूबर में होती है और पुरस्कार अल्फ्रेड नोबेल की बरसी पर 10 दिसंबर को स्टॉकहोम और ओस्लो में दिए जाते हैं. इस साल कोरोना वायरस से पैदा महामारी को देखते हुए पुरस्कार वितरण समारोह बहुत छोटा रहेगा.

अल्फ्रेड नोबेल ने 1866 में डायनामाइट के आविष्कार से खूब दौलत कमाई. 1895 में उन्होंने वसीयत लिखी कि उनके धन को पुरस्कार देने में निवेश किया जाए. वसीयत लिखते समय उनके पास 3.15 करोड़ स्वीडिश क्रोनर की संपत्ति थी, जो आज के 2.2 अरब क्रोनर के बराबर थी.

अल्फ्रेड नोबेल का निधन 1896 में 10 दिसंबर को हुआ. इसके लगभग पांच साल बाद 1901 में पहली बार नोबेल पुरस्कार दिए गए. बुनियादी तौर पर रसायन शास्त्र, भौतिक शास्त्र, चिकित्सा, साहित्य और शांति के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार शुरू हुए. बाद में 1968 में इसमें अर्थशास्त्र के नोबेल को भी जोड़ा गया.

एके/आरपी (डीपीए, एएफपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

ये भी पढ़िए: साहित्य का नोबेल

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन