आईएमएफ का नया प्रमुख चुनने के लिए प्रक्रिया शुरू | दुनिया | DW | 21.05.2011
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

आईएमएफ का नया प्रमुख चुनने के लिए प्रक्रिया शुरू

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने नया प्रमुख चुनने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है. डोमिनिक स्ट्रॉस कान ने बुधवार को पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसकी वजह से यह पद जल्दी खाली हो गया. सोमवार से नामांकन शुरू होंगे.

International Monetary Fund in Washington, DC epa02739791 The sign of the International Monetary Fund is seen at the entrance of the Headquarters of the IMF, also known as building HQ2, in Washington, DC, USA, on 18 May, 2011. EPA/JIM LO SCALZO +++(c) dpa - Bildfunk+++

शुक्रवार को आईएमएफ ने कहा कि उसने कान की जगह नया प्रमुख चुनने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है. सोमवार से नामांकन स्वीकार किए जाएंगे. संस्था को उम्मीद है कि 30 जून से पहले नया प्रबंध निदेशक चुन लिया जाएगा.

काबिलियत पर चयन

मिस्र के शकूर शालान आईएमएफ बोर्ड के डीन हैं. वह मध्य पूर्व का प्रतिनिधित्व करते हैं. उन्होंने कहा कि 24 सदस्यों वाले बोर्ड ने नए अध्यक्ष के लिए चयन प्रक्रिया को मोटे तौर पर मंजूरी दे दी है. इसके तहत कहा गया है कि नए अध्यक्ष का चुनाव पूरी तरह से काबिलियत पर आधारित होगा. प्रक्रिया पारदर्शी और खुली होगी.

शालान ने कहा कि नामांकित किए गए उम्मीदवारों में से छांटकर एक सूची बनाई जाएगी जिसके बाद सहमति से प्रबंध निदेशक चुना जाएगा.

FILE - In this May 16, 2011 file photo, Dominique Strauss-Kahn, head of the International Monetary Fund, is arraigned in Manhattan Criminal Court. Strauss-Kahn, a wealthy French politician accustomed to high living and globe-trotting, wants off Rikers Island, a modern-day Bastille known as one of America's largest and roughest jail complexes. Behind bars on Rikers since Monday, the beleaguered IMF chief is scheduled to return to a Manhattan court on Thursday afternoon to again ask for bail on charges he sexually assaulted a hotel maid _ a move seemed certain to face vigorous opposition by prosecutors. (AP Photo/Richard Drew, Pool)

डोमिनिक स्ट्रॉस कान

यूरोप और अमेरिका के हाथ में ताकत

अमेरिका और यूरोप के सदस्य चाहते हैं कि आईएमएफ का नया प्रमुख चुनने का काम जल्द से जल्द पूरा हो. इसकी एक वजह यूरो जोन में जारी कर्ज संकट है. लेकिन वे ऐसा भी नहीं चाहते कि विकासशील देश नाराज हो जाएं और उन्हें लगे कि यूरोप के पक्ष में काम हो रहा है.

अमेरिकी वित्त मंत्री टिमोथी गाइटनर ने कहा, "हम उभरते बाजारों से आईएमएफ के हिस्सेदारों के साथ बातचीत कर रहे हैं. विकसित देशों से भी बात हो रही है. हम ऐसे उम्मीदवार का समर्थन करने को तैयार हैं जो अनुभवी हो, जिसके अंदर नेतृत्व की क्षमता हो और जो योग्यता की सारी जरूरतें पूरी करता हो."

French Finance Minister Christine Lagarde arrives for a meeting of EU finance ministers in Godollo, Hungary, Saturday, April 9, 2011. EU finance ministers on Saturday defended harsh austerity measures as a necessary means to defeat the current debt crisis. (AP Photo/Bela Szandelszky)

क्रिस्टीन लगार्द

लगार्द की संभावना

अमेरिका और यूरोपीय संघ के पास आईएमएफ में आधे से ज्यादा वोट हैं. यानी वे मिलकर आईएमएफ प्रमुख चुन सकते हैं. यूरोप की तीन बड़ी शक्तियां जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन का समर्थन फ्रांस की वित्त मंत्री क्रिस्टीन लगार्द के साथ है. यूरो जोन के वित्त मंत्री समूह के प्रमुख ज्यॉं क्लाउद युंकर और इटली के प्रधानमंत्री सिल्वियो बर्लुस्कोनी ने भी उनका समर्थन किया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ईशा भाटिया

DW.COM

विज्ञापन