पूंजीवाद लालच है, तो इकॉनमी सुधरे कैसे | ताना बाना | DW | 28.09.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

पूंजीवाद लालच है, तो इकॉनमी सुधरे कैसे

अंतहीन सुविधाएं, निजी स्वामित्व, मुक्त व्यापार – ये सब ही पूंजीवाद का हिस्सा हैं. कई लोग इसे अधिक से अधिक मुनाफ कमाने और कभी ना खत्म होने वाले लालच की विचारधारा भी कहते हैं. लेकिन आखिर अर्थव्यवस्था में सुधार आए कैसे?

वीडियो देखें 02:07
अब लाइव
02:07 मिनट

पूंजीवाद लालच है, तो इकॉनमी सुधरे कैसे

 

 

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

विज्ञापन