1. कंटेंट पर जाएं
  2. मेन्यू पर जाएं
  3. डीडब्ल्यू की अन्य साइट देखें
फाइल तस्वीर
फाइल तस्वीरतस्वीर: Karma Sonam/AP Photo/picture alliance
अपराधभारत

उत्तराखंड: अंकिता भंडारी की हत्या पर गुस्सा शांत नहीं हुआ

आमिर अंसारी
२६ सितम्बर २०२२

रविवार को अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया लेकिन उनकी हत्या के बाद उत्तराखंड में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. सोशल मीडिया पर भी लोग न्याय की मांग कर रहे हैं.

https://p.dw.com/p/4HLMl

ऋषिकेश के एक रिजॉर्ट में बतौर रिसेप्शनिस्ट काम करने वाली अंकिता भंडारी 18-19 सितंबर से गायब थी और बाद में उसकी लाश एक नहर के पास मिली थी. अंकिता की हत्या का आरोप रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर सौरभ भास्कर और एसिस्टेंट मैनेजर पर लगा है.

राज्य के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा है कि अंकिता ने अपने एक मित्र को चैट पर बताया था कि उसे रिसोर्ट के अतिथियों को "विशेष सेवाएं" देने के लिए मजबूर किया जा रहा था.

भारत में हर दिन बच्चों के खिलाफ 409 अपराध

19 साल की अंकिता की हत्या के बाद से ही पूरे प्रदेश में आक्रोश है. पुलिस ने इस हत्या के आरोप में रिजॉर्ट के मालिक और उत्तराखंड सरकार में पूर्व मंत्री विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य को गिरफ्तार किया था. मामले के सुर्खियों में आने के बाद बीजेपी ने कार्रवाई करते हुए विनोद आर्य और उनके बेटे अंकित आर्य को पार्टी से निलंबित कर दिया था.

रविवार को अंकिता भंडारी के पार्थिव शरीर को पौड़ी गढ़वाल के श्रीनगर स्थित शवगृह से एनआईटी घाट ले जाया गया, जहां उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया. वहीं, इससे पहले रविवार को अंकिता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को लेकर नाराज लोगों ने बदरीनाथ ऋषिकेश हाईवे को जाम कर दिया था. बताया जा रहा है कि अंकिता का परिवार पोस्टमार्टम रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं था और परिजनों ने अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया था.

रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि अंकिता की मां ने दावा किया कि उसकी बेटी का जल्दबाजी में अंतिम संस्कार कर दिया गया था, और उसे उसका शव कभी देखने को नहीं मिला, उसने प्रशासन पर आरोप लगाया है कि उसे बेटी के पास ले जाने के बहाने अस्पताल में भर्ती करा दिया.

मीडिया रिपोर्टों में पहले कहा गया था कि मां को अस्वस्थ होने के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालांकि, अब एक वीडियो सामने आया है जिसमें उसने दावा किया है कि वह ठीक है और उसे "बहाने" से अस्पताल ले जाया गया.

दूसरी ओर अंकिता के पिता ने प्रशासन द्वारा वनंत्रा रिजॉर्ट पर चलाए गए बुलडोजर को लेकर सवाल खड़े किए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक रिजॉर्ट का वह कमरा भी तोड़ दिया गया है जिसमें अंकिता रहती थी. शंका जताई जा रही है कि वहां हत्याकांड और अन्य चीजों से जुड़े सबूत हो सकते थे. अंकिता के पिता ने सवाल उठाया है कि क्या सबूत मिटाने के लिए बुलडोजर चलाया गया.

वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अंकिता की हत्या के आरोपियों को सजा देने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित होगी. उन्होंने कहा कि अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट जल्द सार्वजनिक होगी. 

इस विषय पर और जानकारी को स्किप करें
डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी को स्किप करें

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी

Pakistan Premierminister Imran Khan

इमरान खान के लिए तंग हुआ आगे का रास्ता

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें को स्किप करें

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें

होम पेज पर जाएं