ट्यूनीशिया में 2011 की क्रांति की उम्मीदें टूट रही हैं | ताना बाना | DW | 15.01.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

ताना बाना

ट्यूनीशिया में 2011 की क्रांति की उम्मीदें टूट रही हैं

ट्यूनीशिया में अरब वसंत की क्रांति की सातवीं वर्षगांठ पर और ज्यादा प्रदर्शनों की संभावना है. इन सात सालों में देश ने छह सरकारें देखी हैं, लेकिन लोग नाउम्मीद होते गए हैं.

 

दुनिया की कुछ प्रमुख संसदें

जन प्रतिनिधि सभाओं का आजकल के शासन में अहम स्थान है. कहीं इन्हें लोकतंत्र के मंदिर कहा जाता है तो कहीं इनके अधिकार खतरे में हैं.

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन