अमूल्य है भारत की ग्रामीण महिलाओं का ज्ञान | पर्यावरण | DW | 16.10.2021

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

पर्यावरण

अमूल्य है भारत की ग्रामीण महिलाओं का ज्ञान

गांव देहातों की महिलाओं को अपने समुदायों और स्थानीय संसाधनों की गहरी समझ होती है, जिससे उन्हें उनके पर्यावरण में हो रहे बदलावों के आसान हल खोजने में मदद मिलती है. दक्षिण भारत की एक महिला ने पारंपरिक तरीके का इस्तेमाल करते हुए जैव विविधता बचाने की मुहिम छेड़ी है.