महिलाओं को गाय दिखाने वाले विज्ञापन पर कंपनी ने माफी मांगी | दुनिया | DW | 16.12.2021

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

महिलाओं को गाय दिखाने वाले विज्ञापन पर कंपनी ने माफी मांगी

दक्षिण कोरिया की एक कंपनी ने अपने विज्ञापन में महिलाओं को गाय के रूप में दिखाने के लिए माफी मांगी है. देश की सबसे बड़ी डेयरी कंपनी सोल मिल्क के इस विज्ञापन का काफी विरोध हुआ था.

अपने विज्ञापन में सोल मिल्क ने महिलाओं को घास चरती गायों के रूप में दिखाया था. विज्ञापन में ये महिलाएं गाय में तब्दील हो जाती थीं. घोर आलोचना के बाद कंपनी ने न सिर्फ यह विज्ञापन हटा लिया बल्कि इसके लिए माफी भी मांगी.

इंटरनेट पर पोस्ट अपने माफीनामे में कंपनी ने कहा, "पिछले महीने 29 तारीख को जारी विज्ञापन से जिसे भी तकलीफ हुई है, हम उससे पूरी गंभीरता से माफी मांगते हैं. हम इस मुद्दे को गंभीरता से स्वीकार करते हैं और अंदरूनी तौर पर इसकी समीक्षा भी करेंगे ताकि ऐसा भविष्य में ना हो. हम सिर झुकाकर माफी चाहते हैं.”

हटाया गया वीडियो

वीडियो को यूट्यूब से हटा लिया गया है लेकिन बहुत सारे लोगों ने यह वीडियो अलग-अलग वेबसाइटों पर पोस्ट कर दिया है जिसके बाद बार-बार इसे देखा जा रहा है. इस वीडियो की शुरुआत कुछ इस तरह होती है कि एक आदमी अपना कैमरा लिए ग्रामीण इलाके में घूम रहा है.

वॉइस ओवर में आवाज आती है, "आखिरकार हमने उन्हें कैमरे में कैद कर ही लिया, ऐसी जगह जहां असीम सफाई है.” इसके बाद व्यक्ति झाड़ियों में छिपा दिखाई देता है. वह योग कर रहीं और नदी से पानी पी रहीं महिलाओं की तस्वीरें ले रहा है.

जब वह व्यक्ति गलती से हिलता है तो शोर से महिलाएं चौंक जाती हैं और वे एकदम गायों में बदल जाती हैं. विज्ञापन के आखिर में कहा जाता है, "साफ पानी, ऑर्गेनिक चारा, सौ फीसदी शुद्ध सोल मिल्क.”

दक्षिण कोरिया की पत्रकार ह्वोन जंग ने ट्विटर पर लिखा, "संभवतया यह 2021 का सबसे लिंगभेदी और डरावना विज्ञापन है.”

लैंगिक संवेदनशीलता पर बहस

इस विज्ञापन ने न सिर्फ कोरिया में बल्कि दुनियाभर में नारीवाद और लैंगिक संवेदनशीलता को लेकर नई बहस छेड़ दी है. विज्ञापन की आलोचना सिर्फ इसलिए नहीं हो रही है कि महिलाओं को गाय के रूप में दिखाया गया. कुछ लोगों ने यह भी कहा है कि एक पुरुष का चोरी-छिपे महिलाओं की तस्वीरें उतारना भी आपत्तिजनक है.

दक्षिण कोरिया में पिछले दिनों ऐसे मामले बहुत ज्यादा बढ़े हैं जिसमें महिलाओं की चोरी-छिपे तस्वीरें ली गईं और उन्हें इंटरनेट पर पोस्ट कर दिया गया. इस मुद्दे पर पहले से ही कई संगठन सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं.

सोल मिल्क पहले भी विवादों आ चुकी है. 2003 में कंपनी ने एक कार्यक्रम किया था जिसमें नग्न मॉडल एक दूसरे पर दही मलती नजर आई थीं. इसके लिए सोल मिल्क और कार्यक्रम में शामिल मॉडल पर जुर्माना भी लगाया गया था.

रिपोर्टः विवेक कुमार

वीडियो देखें 04:22

क्या बुढ़ापे से बचा जा सकता है?

DW.COM