इंसानों ने पालतू जानवरों को कोविड से बीमार कियाः शोध | विज्ञान | DW | 02.07.2021

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

विज्ञान

इंसानों ने पालतू जानवरों को कोविड से बीमार कियाः शोध

जब कोरोनावायरस आया तो जर्मनी में बहुत से लोग नए पालतू जानवर घर ले आए. पर वैज्ञानिक कह रहे हैं कि संक्रमण हो जाते तो पालतू जानवरों से दूर रहें.

अगर आपको कोरोनावायरस ने संक्रमित कर दिया है, तो बेशक आपको एकांतवास में रहना चाहिए. डॉक्टर कहते हैं कि किसी से मिलना-जुलना उसे बीमार कर सकता है. लेकिन, क्या इस दौरान आप अपने पालतू जानवरों से मिल सकते हैं? वैज्ञानिकों का कहना है, नहीं.

एक नए अध्ययन में नीदरलैंड्स के शोधकर्ताओं ने पाया है कि बहुत बड़ी तादाद में कुत्ते और बिल्लियां कोविड का शिकार हो रहे हैं. वैज्ञानिकों का मानना है कि इंसानों से यह वायरस पालतू जानवरों में जा रहा है.

नीदरलैंड्स के उट्रेष्ट विश्वविद्यालय के डॉ. एल्स ब्रोएन्स कहते हैं कि लगभग 20 फीसदी जानवरों को अपने मालिक से कोविड होने का खतरा है. हालांकि इसका ठीक उलटा, यानी पालतू जानवरों से उनके मालिकों को होने वाले संक्रमण की कोई पुख्ता जानकारी नहीं है. डॉ. ब्रोएन्स कहते हैं, "शुक्र है कि इस वायरस से जानवर बहुत ज्यादा बीमार नहीं होते.”

गंभीर नहीं होती हालत

ब्रोएन्स के अध्ययन को इसी हफ्ते यूरोपीयन कांग्रेस ऑफ माइक्रोबायॉलजी एंड इन्फेक्शियस डिजीज में पढ़ा गया. इस अध्ययन के लिए उन्होंने 196 घरों के 156 कुत्तों और 154 बिल्लियों का अध्ययन किया. ये घर ऐसे थे, जहां किसी सदस्य को कोविड हुआ था.

देखेंः पालतू जानवरों पर खर्च किए अरबों

डॉ. ब्रोएन्स ने पाया कि करीब 17 प्रतिशत जानवर, यानी 31 बिल्लियां और 23 कुत्तों में कोविड-19 के खिलाफ लड़ने वालीं एंटीबॉडीज मौजूद थीं. यानी उन्हें कोरोनावायरस का संक्रमण हो चुका था. साथ ही, छह बिल्लियों और सात कुत्तों यानी करीब 4 प्रतिशत को अध्ययन के वक्त भी कोविड था, जिसका पता पीसीआर टेस्ट से चला.

गहन जांच के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि ये जानवर बहुत जल्द ठीक हो गए थे और इन्होंने उसी घर में रहने वाले दूसरे जानवरों को भी बीमार नहीं किया था.

सब जानवर नहीं करते बीमार

ऐसा माना जाता है कि कोविड-19 चमगादड़ों से इंसानों में आया है. महामारी फैलने के शुरुआती महीनों में ही यह बात पता चल गई थी कि गैर स्तनधारी जानवर भी इस वायरस से संक्रमित हो सकते हैं लेकिन वे गंभीर रूप से बीमार नहीं होते और जल्दी ही इससे उबर जाते हैं.

फिलहाल उपलब्ध जानकारी के मुताबिक ऊदबिलाव ही ऐसा जानवर है जो इंसान से संक्रमण ले सकता है और दूसरे जानवरों में भी संक्रमित कर सकता है.

ब्रोएन्स कहते हैं कि पालतू जानवरों को कितना संक्रमण होगा, यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि उनके मालिक उनसे कितना घुलते मिलते हैं. वह कहते हैं, "बहुत से मालिक अपने पालतू जानवरों के बहुत करीबी संपर्क में रहते हैं. मसलन वे एक ही बिस्तर में सोते हैं. तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि उनका संपर्क कितना करीबी होता है. ऐसे में संक्रमण हो सकता है.”

वीके/एए (रॉयटर्स)

पशुओं का ऑनलाइन अस्पताल

DW.COM

संबंधित सामग्री