अगर यह तकनीक न होती, तो कोरोना की वैक्सीन भी न होती | विज्ञान और तकनीक | DW | 08.04.2022

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान और तकनीक

अगर यह तकनीक न होती, तो कोरोना की वैक्सीन भी न होती

वैज्ञानिकों को जब इंसानी शरीर के बारे में कुछ जानना होता है, कोई शोध करना होता है या कोई वैक्सीन बनानी होती है, तो वे DNA की शरण में जाते हैं. पर DNA के बाद एक और चीज आई mRNA... अभी कोविड वैक्सीन बनाने के पीछे यही साइंस था... आइए, जानते हैं यह कैसे काम करता है.

और पढ़ें