पहली चांद यात्रा के निर्देशों की बोली | दुनिया | DW | 23.05.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पहली चांद यात्रा के निर्देशों की बोली

पहली बार अपने चंद्रयान को चांद पर उतारने के लिए अमेरिकी अंतरिक्षयात्रियों ने जिन दिशानिर्देशों को अपनाया था उन तीन पन्नों के दस्तावेज की बोली 1 लाख 75 हजार डॉलर में लगी है.

20 जुलाई 1969 को जब अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग और बज एल्ड्रिन ने अपने चंद्रयान 'अपोलो 11' को पहली बार चांद पर उतारा तो उससे जुड़े कंप्यूटर प्रोसेसर के एक एक कदम का ब्यौरा 3 पन्नों में विस्तार से लिखा गया था. इन निर्देशों का पालन करते हुए ये अंतरिक्षयात्री सफलतापूर्वक चांद पर उतरने में कामयाब हुए.

बीते शुक्रवार डलास में हेरिटेज ऑक्शंस ने ऐतिहासिक बन गए इन तीन पन्नों के दस्तावेज की नीलामी की. ​हेरिटेज ऑक्शंस का कहना है इस नीलामी में यह दस्तावेज 175000 डॉलर में बिका और खरीदने वाले शख्स ने अपने नाम को गुप्त रखा है.

अमेरिका में मौजूद हैरिटेज ऑक्शंस दुनियाभर की ऐतिहासिक विरासतों की नीलामी करने वाली कंपनी है. हेरिटेज का कहना है कि ये पन्ने एस्ट्रोनॉट बज एल्ड्रिन के निजी संग्रह का हिस्सा थे. हेरिटेज से जुड़े मा​इकल राइली कहते हैं, ''ये पन्ने मानव के पहली बार चांद पर उतरने के अनुभव के अद्भुत दस्तावेज हैं. इन्होंने ही हमें पृथ्वी से बाहर पहला वास्तविक कदम निकालने के लिए निर्देशित किया.''

अपोलो 11 पहला ऐसा अंतरिक्ष विमान था जिसकी मदद से मानव ने पहली बार चंद्रमा पर कदम रखा. यान के सतह पर उतरने के 6 घंटे बाद पहले नील आर्मस्ट्रांग ​विमान से चंद्रमा की जमीन पर उतरे. इसके 20 मिनट बाद एल्ड्रिन ने भी बाहर कदम रखा. इन यात्रियों ने चंद्रमा की सतह पर सवा दो घंटा बिताया. इस दौरान इन्होंने चंद्रमा की सतह से 21.5 किलोग्राम खनिज वापस पृथ्वी पर लाने लिए इकट्ठा किया. अभियान के तीसरे सदस्य माइकल कोलिंस चंद्रमा के बाहर अकेले इन दोनों यत्रियों का इंतजार कर रहे थे.

आरजे/एमजे (एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री