1. कंटेंट पर जाएं
  2. मेन्यू पर जाएं
  3. डीडब्ल्यू की अन्य साइट देखें
अंतर धार्मिक विवाह
प्रतीकात्मक तस्वीरतस्वीर: Realityimages/Zoonar/picture alliance
अपराधभारत

अंतर धार्मिक विवाह करने वालों की सुरक्षा पर सवाल

चारु कार्तिकेय
६ मई २०२२

हैदराबाद में सिर्फ दूसरे धर्म का होने की वजह से अपनी बहन के पति की हत्या करने वाले व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले ने देश में अंतर धार्मिक विवाह करने वालों की सुरक्षा को लेकर फिर से सवाल खड़े कर दिए हैं.

https://p.dw.com/p/4AtoJ

25 साल के बी नागराजू की हैदराबाद की एक चहल पहल वाली सड़क पर चार अप्रैल की शाम लोहे की रॉड से पीट पीट कर और चाकू घोंप कर हत्या कर दी गई थी. पांच अप्रैल की शाम हैदराबाद पुलिस ने बताया कि नागराजू के हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस के बयान के अनुसार विकाराबाद जिले के मारपल्ली गांव के रहने वाले नागराजू और 23 वर्षीय अशरिन सुल्ताना बचपन के साथी थे और पिछले पांच सालों से एक दूसरे से प्रेम करते थे.

(पढ़ें: 'लव जिहाद' अध्यादेश के औचित्य पर क्यों उठ रहे हैं सवाल)

पुलिस को थी जानकारी

सुल्ताना का परिवार इस रिश्ते के खिलाफ था, जिस वजह से वह 30 जनवरी को अपने माता पिता का घर छोड़ कर निकल गईं और अगले ही दिन नागराजू से शादी कर ली.

इस वजह से सुल्ताना के भाई सईद मोबिन अहमद के मन में नागराजू के प्रति द्वेष पैदा हो गया था. पुलिस के मुताबिक अहमद तब से नागराजू पर हमला करने के मौके की तलाश में था. मुमकिन है कि नागराजू और सुल्ताना को इस खतरे का एहसास था.

मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि दोनों के कुछ दोस्तों ने उन्हें विकाराबाद के पुलिस अधीक्षक से मिलवाया था और उन्हें पूरे हालात की जानकारी दी थी. पुलिस ने सुल्ताना के परिवार को समझाया भी, जिसके बाद उनके माता और पिता ने उनकी जिंदगी में दखल न देने का वादा किया.

(पढ़ें: 'प्रियंका' और 'सलामत' सिर्फ हिन्दू और मुस्लिम नहीं, आजाद वयस्क हैं)

लेकिन सुल्ताना और नागराजू को फिर भी सुल्ताना के परिवार से धमकियां मिलती रहीं जिसकी वजह से दोनों गांव छोड़ कर विशाखापट्टनम चले गए. फिर नागराजू को हैदराबाद में गाड़ियों के एक शोरूम में सेल्समैन की नौकरी मिल गई और दोनों गांव से करीब 100 किलोमीटर दूर हैदराबाद में जा कर रहने लगे.

सरेआम कर दी हत्या

अहमद ने धीरे धीरे हैदराबाद में उनका पता खोज निकाला और उनका पीछा करने लगा. चार अप्रैल को उसने मौका पाकर अपने एक साथी मोहम्मद मसूद अहमद के साथ मिल कर हैदराबाद में नागराजू पर हमला कर दिया और उसकी हत्या कर दी.

अंतर धार्मिक विवाह
अंतर धार्मिक विवाह करने वालों की सुरक्षा एक बड़ी समस्या बन गई हैतस्वीर: Fariha Farooqui/Photoshot/picture alliance

सोशल मीडिया पर मौजूद इस हमले के वीडियो में भीड़ भाड़ वाली सड़क के बीचोंबीच अहमद नागराजू मारते हुए नजर आ रहे हैं. सुल्ताना नागराजू को बचाने की असफल कोशिश भी करती नजर आ रही हैं.

सुल्ताना ने पत्रकारों को बताया कि वो इस बात से भी स्तब्ध हैं कि सरेआम उनके पति की हत्या कर दी गई और वहां मौजूद लोगों में से कोई भी उन्हें बचाने के लिए आगे नहीं आया. एक वीडियो में बाद में कुछ लोग अहमद के पीछे दौड़ते हुए नजर आते हैं.

(पढ़ें: सोशल मीडिया पर अंतर-धार्मिक रिश्तों के विरोध की बलि चढ़ गया विज्ञापन)

पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपित व्यक्ति वहां से भागने में सफल हो गए थे लेकिन कुछ घंटों बाद पुलिस ने उन्हें ढूंढ निकाला और गिरफ्तार कर लिया. उनके पास से हत्या के लिए इस्तेमाल की गई लोहे की रॉड और चाकू भी बरामद किए गए.

इस मामले से अंतर धार्मिक विवाह करने वालों की सुरक्षा को लेकर फिर से सवाल खड़े हो गए हैं. इस मामले में तो पुलिस को दंपत्ति पर खतरे की जानकारी भी थी, फिर भी नागराजू की हत्या हो गई.

इस विषय पर और जानकारी को स्किप करें

इस विषय पर और जानकारी

संबंधित सामग्री को स्किप करें

संबंधित सामग्री

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी को स्किप करें

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी

Ukraine, Kiew | Von der Leyen trifft Selenskyj

यूरोपीय संघ के सबसे बड़े अधिकारियों ने यूक्रेन में की मीटिंग

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें को स्किप करें

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें

होम पेज पर जाएं