गाय के नाम पर असम में दो मुसलमानों की हत्या | दुनिया | DW | 01.05.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

गाय के नाम पर असम में दो मुसलमानों की हत्या

भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम में गुस्साई भीड़ ने दो मुसलमानों की पीट पीट कर हत्या कर दी. लोगों का आरोप है कि वे गायों को चुराने की कोशिश कर रहे थे ताकि उन्हें काट सकें.

Flash-Galerie Weiße Tiere Weiße Kuh (AP)

पुलिस का कहना है कि यह घटना रविवार की है जहां असम के नागांव जिले में एक गांव में इन लोगों की हत्या की गई. लगभग 20 लोगों ने दो मुसलमान युवाओं पर हमला किया. उन्हें डंडों से मारा गया. जिले के पुलिस प्रमुख देबाराज उपाध्याय ने रॉयटर्स को बताया, "जब पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंची तो अत्यधिक पिटाई के कारण उन दोनों युवकों की हालत बहुत गंभीर थी."

कुछ टीवी चैनलों पर दिखाई जा रही फुटेज में दोनों युवकों के हाथ बांधे हुए दिखाए जा रहे हैं. उपाध्याय ने बताया कि इनमें से एक युवक के परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

भारत में हाल के दिनों में कई ऐसे मामले सामने आए हैं जब कट्टरपंथी हिंदू समूहों से जुड़े लोगों ने गाय के नाम पर लोगों को पीट पीट कर मार डाला है. ये हिंदू समूह गोकशी पर पूरी तरह प्रतिबंध की मांग कर रहे हैं. कई राज्यों ने इसे लागू भी किया है. लेकिन केरल, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, मेघालय, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम जैसे राज्यों में गोहत्या पर कोई प्रतिबंध नहीं है.

असम में गायों को मारने पर प्रतिबंध है लेकिन जिन गायों को फिट-फॉर-स्लॉटर प्रमाणपत्र मिल गया है उन्हें मारा जा सकता है. सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने केंद्र में सत्ता संभाली है जब से गाय के नाम पर हिंसा के मामले बढ़े हैं.

एके/ओएसजे (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन