मिशेल ओबामा को ′लंगूर′ बताने वाली पोस्ट पर हंगामा | दुनिया | DW | 16.11.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मिशेल ओबामा को 'लंगूर' बताने वाली पोस्ट पर हंगामा

बराक ओबामा की पत्नी और अमेरिका की प्रथम महिला मिशेल ओबामा पर भद्दी नस्ली टिप्पणी करने वाली महिला नेता ने इस्तीफा दिया.

अमेरिका के वेस्ट वर्जीनिया प्रांत के एक छोटे शहर की मेयर रह चुकी बेवर्ली व्हेलिंग एक फेसबुक पोस्ट के बाद लोगों के निशाने पर आईं. विवाद तब शुरू हुआ जब उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में मिशेल ओबामा पर टिप्पणी की. क्ले काउंटी डेवेलपमेंट कॉर्प की डायरेक्टर पैमेला रामसे ने डॉनल्ड ट्रंप की जीत पर खुशी का इजहार करते हुए मिशेल ओबामा पर तंज कसा, "व्हाइट हाउस में फर्स्ट लेडी के रूप में एक क्लासी, खूबसूरत और गौरवशाली प्रथम महिला को देखना ताजगी भरा होगा. मैं लंगूर को हील्स में देखते देखते थक चुकी हूं."

इस पोस्ट पर कमेंट करते हुए पूर्व मेयर व्हेलिंग ने लिखा, "तुमने मेरा दिन जबरदस्त बना दिया पैम."

फेसबुक पोस्ट शेयर होते ही हंगामा मचने लगा. दबाव बढ़ने के बाद रामसे को पद से बर्खास्त कर दिया गया. वहीं मेयर बेवर्ली व्हेलिंग को इस्तीफा देना पड़ा. लेकिन टिप्पणियों से एक बार फिर साफ हुआ है कि अमेरिकी समाज में रंगभेद आज भी किस हद तक मौजूद है.

क्ले टाउन काउंसिल मेम्बर जेसन हब्बर्ड ने बेहद आपत्तिजनक और बुरी टिप्पणी के लिए मिशेल ओबामा और बाकी लोगों से माफी मांगी है. वहीं व्हेलिंग ने अपने कमेंट पर सफाई दी है. व्हेलिंग ने कहा, "मैंने वो बात व्हाइट हाउस में हुए बदलाव के संदर्भ में कही. इसके चलते अगर मैंने किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है तो मैं तहेदिल से माफी मांगती हूं."

वेस्ट वर्जीनिया प्रांत की डेमोक्रैटिक पार्टी की अध्यक्ष बेलिंडा बेफोर ने भी मिशेल ओबामा से माफी मांगी. अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा डेमोक्रैटिक पार्टी के नेता है.

अमेरिका में आठ नवंबर को हुए चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के नेता डॉनल्ड ट्रंप की जीत हुई. अपने चुनाव अभियान के दौरान कई बार ट्रंप ने नस्ली तंज कसे. गोरे रंग को बेहतर मानने वाले नस्लीय गुटों ने भी उनका समर्थन किया. ट्रंप की जीत के बाद अमेरिकी अप्रवासियों के मन में बढ़ते नस्लवाद को लेकर उथल पुथल है.

ओएसजे/आरपी (एपी,एएफपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री