अमेरिका में खुद को एलजीबीटी मानने वाले लोगों की संख्या हुई दोगुनी | दुनिया | DW | 18.02.2022

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

अमेरिका में खुद को एलजीबीटी मानने वाले लोगों की संख्या हुई दोगुनी

एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में खुद को एलजीबीटी मानने वाले वयस्कों की संख्या 7.1 प्रतिशत हो गई है. 2012 के मुकाबले यह आंकड़ा दोगुना हो गया है और यह एक तरह से पीढ़ीगत बदलाव है.

ये आंकड़े सर्वेक्षण करने वाली कंपनी गैलप के हैं. कंपनी ने 2012 में ही इन आंकड़ों को इकट्ठा करना शुरू किया था. ताजा सर्वेक्षण के नतीजों पर कंपनी ने एक बयान में कहा, "युवा अब वयस्क हो रहे हैं और अपनी लैंगिकता और अपनी पहचान को भी समझ रहे हैं, और यह समय भी ऐसा है जब अमेरिका में समलैंगिक और ट्रांसजेंडर लोगों की स्वीकार्यता बढ़ रही है. सभी तरह के एलजीबीटी लोगों को कानूनी संरक्षण भी मिल रहा है."

गैलप फोन पर किए गए सर्वेक्षणों के दौरान जनसंख्या से जुड़ी जानकारी इकट्ठा करती है. कंपनी इन सर्वेक्षणों में लोगों से यह भी पूछती है कि क्या वो खुद को स्ट्रेट, लेस्बियन, गे, बाइसेक्सुअल, ट्रांसजेंडर या हेट्रोसेक्सुअल के अलावा और कुछ महसूस करते हैं.

(पढ़ें: गुजरात: गे डेटिंग ऐप पर फंसाकर धोखाधड़ी करने वाले गिरफ्तार)

पीढ़ीगत बदलाव

जवाब देने वाले दूसरी कोई लैंगिक अनुस्थिति या पहचान के बारे में भी बता सकते हैं. 2021 के सर्वेक्षण में 12,000 लोगों से बात की गई थी और उनमें से 86.3 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वो स्ट्रेट या हेट्रोसेक्सुअल हैं. 6.6 प्रतिशत लोगों ने कोई जवाब नहीं दिया.

सुप्रीम कोर्ट, अमेरिका

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के बाहर जमा एलजीबीटी एक्टिविस्टों का प्रदर्शन

2012 में जब सर्वेक्षण शुरू हुआ था तब खुद को एलजीबीटी बताने लोग 3.5 प्रतिशत थे और तब से यह संख्या लगातार बढ़ ही रही है. आंकड़ों को और बारीकी से देखने पर पता चलता है कि कम उम्र के वयस्कों में खुद को एलजीबीटी मानने वाले लोग ज्यादा हैं.

(पढ़ें: भारत में लेस्बियन और गे लोगों को 'सीधा करने वाला इलाज' बैन करने की मांग)

कुल मिला कर 1997 से 2003 के बीच जन्मे जनरेशन जेड के युवाओं में 20.8 प्रतिशत यानी हर पांच में से एक व्यक्ति एलजीबीटी है. 1981 से 1996 के बीच जन्मे मिलेनियलों में यह आंकड़ा आधा, यानी 10.5 प्रतिशत है.

1965 से 1980 के बीच जन्मे जनरेशन एक्स के लोगों में यह आंकड़ा 4.2 प्रतिशत है. 1946 से 1964 के बीच जन्मे बेबी बूमर लोगों के बीच यह आंकड़ा 2.6 प्रतिशत और 1946 से पहले जन्मे परंपरावादी लोगों में 0.8 प्रतिशत है.

हर श्रेणी की जानकारी

2017 तक जनरेशन जेड का आंकड़ा सात प्रतिशत था लेकिन जैसे जैसे ये लोग वयस्क हुए 2021 तक यह आंकड़ा बढ़ कर 12 प्रतिशत हो गया. जब से सर्वेक्षण शुरू हुआ है तब से परंपरावादियों, बूमरों, और जनरेशन एक्स के बीच खुद को एलजीबीटी मानने वालों की संख्या स्थिर है. बस मिल्लेनियलों में इस संख्या में थोड़ी सी बढ़ोतरी देखी गई है.

ऑस्टिन, टेक्सास

टेक्सास के ऑस्टिन में एलजीबीटी कानूनों का विरोध करते एक्टिविस्ट

गैलप ने बयान में कहा, "यह ट्रेंड अगर जनरेशन जेड के बीच जारी रहा तो उस पीढ़ी में खुद को एलजीबीटी बताने वाली लोगों की संख्या तब और बढ़ जाएगी जब पीढ़ी के सभी युवा वयस्क हो जाएंगे.

(पढ़ें: जर्मनी में पहली बार दो ट्रांसजेंडर महिलाएं बनेंगी सांसद)

इस बार पहली बार सर्वेक्षण में हर एलजीबीटी श्रेणी में भी लोगों की गणना की गई. 57 प्रतिशत यानी आधे से ज्यादा एलजीबीटी लोगों ने बताया कि वो बाइसेक्सुअल हैं. यह अमेरिका की कुल वयस्क आबादी के चार प्रतिशत के बराबर है.

इसके बाद अगले स्थान पर हैं गे (21 प्रतिशत), लेस्बियन (14 प्रतिशत) और ट्रांसजेंडर (10 प्रतिशत). चार प्रतिशत एलजीबीटी क्वियर या समलैंगिक प्रेमी जैसी किसी दूसरी श्रेणी में हैं.

सीके/एए (एएफपी)

DW.COM