एक फोटो पर उबला भारत | दुनिया | DW | 27.02.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

एक फोटो पर उबला भारत

भारत में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी की विद्यार्थी शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विवादों में घिरी है. उस पर करगिल संघर्ष के दौरान मारे गए एक कैप्टन की बेटी को हिंसा और बलात्कार की धमकी देने के आरोप लग रहे हैं.

Indien Umar Khalid und Anirban Bhattacharya (Getty Images/AFP)

उमर खालिद को बुलाए जाने पर हुई थी रामजस कॉलेज में हिंसा

यह विवाद तब शुरू हुआ, जब गुरमेहर कौर ने सोशल मीडिया पर अपनी एक फोटो पोस्ट करते हुए लिखा, "मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की एक छात्रा हूं और एबीवीपी से नहीं डरती. मैं अकेली नहीं हूं और देश का हर छात्र मेरे साथ है. #StudentsAgainstABVP."

यह पोस्ट उन्होंने दिल्ली के रामजस कॉलेज में हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर डाली. बताया जाता है कि रामजस कॉलेज में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र उमर खालिद को बोलने के लिए आमंत्रित किए जाने पर एबीवीपी के छात्रों ने तोड़फोड़ की. उमर खालिद पर पिछले साल देशद्रोह के आरोप लगे थे.

गुरमेहर कौर ने एनडीटीवी के साथ बातचीत में कहा, "मुझे सोशल मीडिया पर बहुत धमकियां मिल रही हैं. जो प्रोफाइल फोटो मैंने पोस्ट की है, आप उसे देखेंगे तो लोग मुझे लगातार धमकी दे रहे हैं और मुझे राष्ट्र विरोधी बता रहे हैं. मुझे लगता है कि जब आपको लोग हिंसा या बलात्कार की धमकी देते हैं तो डर लगता है."

जानिए देशद्रोह के मायने, इतिहास और दायरे

गुरमेहर कौर कैप्टन मंदीप सिंह की बेटी हैं जो करगिल युद्ध के दौरान मारे गए थे. अपने फेसबुक पोस्ट में गुरमेहर ने लिखा, "एबीवीपी का निर्दोष छात्रों पर बर्बर हमला परेशान करने वाला था और यह रुकना चाहिए. यह हमला प्रदर्शनकारियों पर नहीं था बल्कि लोकतंत्र पर था जो हर भारतीय को प्रिय है."

दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज में पढ़ने वाली गुरमेहर ने लिखा, "जो पत्थर फेंके गए वह हमारे शरीर पर लगे, लेकिन हमारे विचारों को नुकसान पहुंचाने में वे नाकाम रहे. ये मेरी प्रोफाइल फोटो आतंक के राज के खिलाफ विरोध करने का मेरा तरीका है."

दूसरी तरफ, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने भी गुरमेहर की एक टिप्पणी पर ट्वीट किया है कि इस लड़की के दिमाग को कौन दूषित कर रहा है. यह ट्वीट उन्होंने मुरमेहर के उस कमेंट के जबाव में किया है जिसमें उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच शांति की अपील करते हुए लिखा था, "मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं मारा था, उन्हें लड़ाई ने मारा था."

देखिए कौन कितना ताकतवर है

रिजिजू ने ट्वीट किया, "इस युवा लड़की के दिमाग को कौन दूषित कर रहा है? एक मजबूत सेना युद्ध को टालती है. भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया लेकिन एक कमजोर भारत पर हमेशा हमला हुआ है."

सोशल मीडिया पर गुरमेहर को लेकर तरह तरह टिप्पणियां हो रही हैं. जहां कई लोग उनकी आलोचना कर रहे हैं, वहीं कई उनके बचाव में भी उतरे हैं.

पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने गुरमेहर का मजाक उड़ाते हुए ट्वीट किया, "बात में है दम! #BharatJaisiJagahNahi". उन्होंने अपनी फोटो ट्वीट किया जिसमें लिखा है, "मैंने दो ट्रिपल सेंचुरी नहीं लगाई, इसके लिए मेरा बैट जिम्मेदार है."

अभिनेता रणदीप हुड्डा ने वीरेंद्र सहवाग की हां में हां मिलाई.

जाने माने पत्रकार शेखर गुप्ता ने सहवाग और रणदीप को हड़काते हुए ट्वीट किया, "दुख की बात है कि वीरू और रणदीप जैसे बड़े दिल के स्टार ऐसा कह रहे हैं. किसी के राष्ट्रवाद को सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं और उसके राष्ट्रवाद पर तो उसके पिता के सर्वोच्च बलिदान की मुहर है."

इस पर रणदीप हुड्डा ने पलटवार किया और कहा कि लड़की का राजनीतिक इस्तेमाल हो रहा है. उन्होंने शेखर गुप्ता को भी इसी का हिस्सा बता डाला.

गुरमेहर भी इस बहस में शामिल हुई और उन्होंने साफ किया कि वह सिर्फ छात्रों पर हुई हिंसा का विरोध कर रही हैं.

अशोक कुमार

DW.COM