गुप्त परमाणु शहर पाकिस्तान की कोरी कल्पना: भारत | दुनिया | DW | 10.02.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

गुप्त परमाणु शहर पाकिस्तान की कोरी कल्पना: भारत

भारत ने पाकिस्तान के इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है कि वह कोई "गुप्त परमाणु शहर" बना रहा है जहां परमाणु हथियारों को रखने के साथ साथ तापनाभकीय हथियार और मिसाएलें तैयार की जाएंगी.

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने इस्लामाबाद में एक प्रेस कांफ्रेस में यह आरोप लगाया. लेकिन इस बारे में उन्होंने कोई सबूत नहीं दिए. उन्होंने कहा कि भारत में एक ऐसा "गोपनीय शहर" बसाया जा रहा है जहां परमाणु हथियारों को रखा जाएगा और तापनाभकीय हथियार और इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइलें तैयार की जाएंगी.

कश्मीर में हालिया हिंसा को लेकर भारत और पाकिस्तान के रिश्ते तनाव का शिकार हैं. जकारिया का दावा है कि भारत इंटरकॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइलें और इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल रोधी प्रणाली विकसित कर रहा है, जिससे इस क्षेत्र और दुनिया भर में रणनीतिक संतुलन खराब होगा. इसके अलावा उन्होंने भारत पर पाकिस्तान में आतंकवादी हमलों को प्रायोजित करने का आरोप भी लगाया. पाकिस्तानी प्रवक्ता के मुताबिक इस बारे में सबूत हाल ही में संयुक्त राष्ट्र को सौंपे गए हैं. उन्होंने भारत पर संघर्ष विराम समझौते का बार बार उल्लंघन करने का आरोप भी लगाया.

देखिए भात और पाकिस्तान में कौन कितना ताकतवर

उधर, भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने जकारिया के सभी आरोपों को खारिज किया है. विकास स्वरूप ने कहा, "यह पूरी तरह बेबुनियाद आरोप हैं. तथाकथित गोपनीय परमाणु शहर पाकिस्तान की कोरी कल्पना है." उन्होंने कहा कि भारत ने "हमेशा अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारियों का पालन किया है".

पाकिस्तान 1998 में परमाणु शक्ति सम्पन्न देश बना, जब उसने भारत के पोखरण परमाणु परीक्षणों के जबाव में पहली बार न्यूक्लियर टेस्ट किया था. भारत ने पहली बार परमाणु परीक्षण 1974 में किया था.

पिछले साल भारतीय कश्मीर में उड़ी में सेना के शिविर पर चरमपंथी हमले के बाद से दोनों देशों में तनाव बेहद बढ़ गया. पाकिस्तानी प्रवक्ता का कहना है कि भारत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर "पाकिस्तान को अलग थलग करने में नाकाम" रहा है. भारत का आरोप है कि पाकिस्तान सरकारी नीति के तौर पर आतंकवाद का इस्तेमाल करता है और इस मुद्दे पर वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन जुटाने की लगातार कोशिशें करता रहा है. भारत मुंबई से लेकर पठानकोट हमले तक लगभग सभी हमलों के तार पाकिस्तान से जोड़ता है. वहीं पाकिस्तान का कहना है कि पुख्ता सबूत दिए बिना भारत उसके खिलाफ गलत इल्जाम लगाता है.

एके/एमजे (एपी)

परमाणु हथियारों के खिलाफ खड़ा है एक नन्हा सा देश

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन