″द कश्मीर फाइल्स″ को लेकर उत्साहित बीजेपी, उलझन में कांग्रेस | भारत | DW | 14.03.2022

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

"द कश्मीर फाइल्स" को लेकर उत्साहित बीजेपी, उलझन में कांग्रेस

भारत में इन दिनों द कश्मीर फाइल्स नामक फिल्म चर्चा का विषय बनी हुई है. फिल्म में घाटी से कश्मीरी पंडितों के पलायन को दर्शाया गया है. बीजेपी समर्थक लोगों से फिल्म देखने के लिए कह रहे हैं.

द कश्मीर फाइल्स फिल्म कश्मीर घाटी में कश्मीरी पंडितों की हत्या और उनके पलायन पर आधारित है. इसका निर्देशन विवेक अग्निहोत्री ने किया है. बीजेपी के कई नेता सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से फिल्म को देखने की अपील कर रहे हैं और कह रहे हैं कि फिल्म से पता चलता है कि किस तरह से कश्मीरी पंडितों पर अत्याचार किया गया था. हाल ही में फिल्म के निर्माता और निर्देशक ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की थी और मोदी ने फिल्म बनाने वाली टीम को इसके लिए बधाई भी दी थी.

इस फिल्म में अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती, पल्लवी जोशी और दर्शन कुमार ने अभिनय किया है और फिल्म के प्रोड्यूसर अभिषेक अग्रवाल हैं.

फिल्म को बीजेपी किस तरह से प्रमोट कर रही इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हरियाणा, गुजरात, कर्नाटक और मध्य प्रदेश जैसे बीजेपी-शासित राज्यों में इसे टैक्स-फ्री कर दिया गया है. बीजेपी के कई समर्थक भी अन्य राज्य सरकारों से इसे टैक्स फ्री करने की मांग कर रहे हैं.

अरसे बाद पाकिस्तान गए भारतीय अधिकारी, लाहौर में हुई सिंधु जल संधि पर चर्चा

फिल्म को टैक्स फ्री करने की मांग राजस्थान में भी उठ चुकी है. राजस्थान में कांग्रेस विधायक भंवर लाल शर्मा ने कहा है कि वे राज्य सरकार को पत्र लिखकर इसकी मांग करने वाले हैं. गौरतलब है कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है.

ऐसे में सवाल उठ रहा है कि बीजेपी का इस तरह से फिल्म को समर्थन देना कहीं कांग्रेस के लिए नई मुसीबत न बन जाए. दूसरी ओर गैर कांग्रेस शासित राज्य जैसे दिल्ली में भी फिल्म को कर मुक्त करने की मांग बीजेपी के ही सांसद मनोज तिवारी ने उठाई है.

पत्रकार राणा अय्यूब का न्यायिक उत्पीड़न बंद करे भारतः यूएन

बीजेपी के ही कई नेता मुफ्त में फिल्म की टिकटें बांटने की घोषणा कर रहे हैं. वहीं मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि फिल्म देखने के लिए पुलिसवालों को एक दिन की छुट्टी दी जाएगी. उन्होंने कहा, "फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' देखने के लिए मध्य प्रदेश के पुलिसकर्मियों को अवकाश दिया जाएगा. पुलिसकर्मियों को अवकाश देने के लिए डीजीपी सुधीर सक्सेना को निर्देश दिए हैं."

एक दिन पहले केरल कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा था कश्मीर में पंडितों से ज्यादा मुस्लिम मारे गए थे. ट्वीट में कहा गया था, "आतंकी ही थे जिन्होंने पंडितों को निशाना बनाया. पिछले 17 सालों (1990-2007) में हुए आतंकि हमलों में 399 पंडित मारे गए हैं. इसी दौरान आतंकवादियों की ओर से मारे गए मुसलमानों की संख्या 15,000 है." हालांकि बीजेपी के हमले के बाद कांग्रेस ने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया. अब देखना दिलचस्प होगा कि कांग्रेस किस तरह से अपना पक्ष इस फिल्म को लेकर पेश करती है.

DW.COM

संबंधित सामग्री