लड़कियों के बहाने इस्राएली सैनिकों को फांस रहा है हमास | दुनिया | DW | 13.01.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

लड़कियों के बहाने इस्राएली सैनिकों को फांस रहा है हमास

युवतियों की तस्वीरों और हिब्रू भाषा के शब्दों का इस्तेमाल करके फलीस्तीनी आतंकवादी संगठन हमास इस्राएल के सैनिकों के फोन हैक करने की कोशिश कर रहा है.

सेना का कहना है कि इस तरीके से हमास ने दर्जनों इस्राएली सैनिकों से ऑनलाइन चैट की और उनके फोन कैमरे और माइक्रोफोन हैक कर लिए.

इस घोटाले के बारे में पत्रकारों को जानकारी देते हुए एक अफसर ने बताया कि यह सब गजा पट्टी स्थित संगठन का यह खुफिया जानकारियां जुटाने का ऑपरेशन था लेकिन वह कोई बड़ा राज हासिल नहीं कर पाया है. हमास के प्रवक्ता ने इस घटना पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

इस्राएली अफसर के मुताबिक हमास आमतौर पर फेसबुक का इस्तेमाल करता है. इसके लिए फर्जी ऑनलाइन अकाउंट बनाए जाते हैं. सैनिकों को लुभाने के लिए इन अकाउंट में युवतियों की इंटरनेट से चुराई गईं तस्वीरें इस्तेमाल की जाती हैं. ऐसी ही एक चैट पत्रकारों को दिखाई गई. इस चैट में एक महिला ने लिखा, "एक सेकंड रुको, मैं अपनी फोटो भेजती हूं." सैनिक ने जवाब दिया, "ओके. हा-हा." और फिर सुनहरी बालों वाली स्विमसूट पहने एक लड़की की फोटो आई. इसके बाद महिला ने कहा कि चलो एक ऐप डाउनलोड करते हैं जिससे वीडियो चैट करेंगे.

देखिए, कितनी दमदार है इस्राएली सेना

इस्राएली अफसर ने बताया कि जिन सैनिकों से संपर्क किया गया वे ज्यादातर निचले रैंक के थे. उन्होंने कहा कि हमास गजा इलाके में इस्राएली सेना की रणनीतियां, ताकत और हथियारों के बारे में जानकारी जुटाना चाहता है. सेना को इस घोटाले का पता तब चला कि जब सैनिकों ने बताना शुरू किया कि उनके ऑनलाइन अकाउंट्स पर संदिग्ध गतिविधियां हो रही हैं. तब दर्जनों फर्जी ऑनलाइन अकाउंट्स का पता चला.

2001 में 16 साल के एक इस्राएली युवक को एक फलीस्तीनी महिला ने अमेरिकन पर्यटक बनकर आकर्षित किया था. यह युवक युवती से मिलने वेस्ट बैंक चला गया जहां उसे गोली मार दी गई थी.

वीके/एमजे (रॉयटर्स)

DW.COM

विज्ञापन