क्यों हो रहा है मछली फार्मों का विरोध | ताना बाना | DW | 21.09.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

क्यों हो रहा है मछली फार्मों का विरोध

यूरोपीय संघ और कनाडा के बीच मुक्त व्यापार समझौते का फायदा मछली उद्योग को हो रहा है. लेकिन पर्यावरण संरक्षकों का कहना है कि मछली पालन से मछलियों के प्राकृतिक भंडार को नुकसान पहुंच रहा है.

भारत के हैदराबाद में अस्थमा के रोगियों के इलाज के लिए एक अनोखा तरीका प्रचलित है. मरीजों को एक विशेष मछली पूरी निगलनी होती है, वो भी जिंदा. 

 

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन