सलमान के खिलाफ गवाही देने को तैयार चश्मदीद | दुनिया | DW | 28.07.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सलमान के खिलाफ गवाही देने को तैयार चश्मदीद

कानून के हाथ बहुत लंबे होते हैं, यह फिल्मी डायलॉग सलमान खान पर भारी पड़ सकता है. राजस्थान में शिकार करने के दौरान गाड़ी चलाने वाला ड्राइवर सलमान खान के खिलाफ गवाही देने को तैयार हुआ.

सलमान खान के चिंकारा केस के गवाह और 2002 से लापता हरीश दुलानी बुधवार को सामने आए. भारतीय न्यूज चैनल एनडीटीवी से बात करते हुए दुलानी ने कहा, "मैं अब भी उस अपने बयान पर कायम हूं जो मैंने 18 साल पहले मजिस्ट्रेट के सामने दिया कि सलमान कार से उतरे और उन्होंने चिंकारा को गोली मारी. मैं भागा नहीं था लेकिन मैं डरा हुआ था क्योंकि मुझे और मेरे पिता को कई धमकियां मिलीं."

(देखिये: बॉलीवुड की हस्तियां और अापराधिक मामले)

अभिनेता सलमान खान पर आरोप है कि उन्होंने 1998 में जोधपुर में शूटिंग के दौरान हिरणों का अवैध शिकार किया. हालांकि राजस्थान हाई कोर्ट उन्हें बरी कर चुका है. हाई कोर्ट के मुताबिक चिंकारा के शरीर में मिले छर्रे सलमान की लाइसेंसी बंदूक के नहीं थे. लेकिन अब दुलानी के सामने आने से केस में नाटकीय बदलाव आ गया है. हरीश दुलानी शिकार के वक्त गाड़ी चला रहे थे.

दुलानी का आरोप है, "डर की वजह से मैंने जोधपुर में अपने रिश्तेदारों का घर छोड़ दिया. हमने सुरक्षा के लिए गुहार भी लगाई लेकिन नहीं मिली. अगर मुझे पुलिस की सुरक्षा मिली होती तो मैं बयान देता. मुझे सलमान का ड्राइवर होने की सजा मिली, मैं डर के साये में जिंदगी जी रहा हूं."

दुलानी के सामने आने के बाद अब राजस्थान सरकार ने भी हाई कोर्ट के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करने का फैसला किया है. सलमान खान चिंकारा शिकार केस में 2007 में दो हफ्ते के लिए जेल भी जा चुके हैं. सलमान के वकीलों का कहना है कि अभिनेता को बेवजह फंसाया जा रहा है. दुलानी के गवाही न देने से भी सलमान खान को बहुत फायदा मिला. बचाव पक्ष लगातार अदालत में यही कहता रहा कि मुकदमा सिर्फ परिस्थितिजन्य सबूतों पर टिका है. कोई चश्मदीद नहीं है. लेकिन अब चश्मदीद सामने है.

ओएसजे/एमजे (पीटीआई)

DW.COM