टिक टॉक ने लगाया मिल्क क्रेट चैलेंज पर प्रतिबंध | दुनिया | DW | 30.08.2021

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

टिक टॉक ने लगाया मिल्क क्रेट चैलेंज पर प्रतिबंध

शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म टिक टॉक ने मिल्क क्रेट चैलेंज पर प्रतिबंध लगा दिया है, क्योंकि इस चैलेंज में भाग लेने वाले यूजर्स गंभीर रूप से घायल हो रहे थे.

टिक टॉक के प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है, टिक टॉक खतरनाक कामों को बढ़ावा देने या महिमामंडित करने वाली सामग्री को प्रतिबंधित करता है. प्रवक्ता के बयान के मुताबिक, "हम ऐसी सामग्री को हतोत्साहित करने के लिए वीडियो को हटाते हैं और खोजों को हमारे सामुदायिक दिशा-निर्देशों पर पुनर्निर्देशित करते हैं. हम सभी को अपने व्यवहार में सावधानी बरतने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, चाहे वह ऑनलाइन हो या ऑफलाइन."

इस ट्रेंड को दर्शाने वाले अधिकांश वीडियो में टिक टॉक यूजर्स जमीन पर गिरते हुए दिखाई देते हैं क्योंकि वे अस्थायी पिरामिड पर एक तरफ से चढ़ते हैं और दूसरी तरफ से नीचे उतरने की कोशिश करते हैं. इसी चैलेंज को पूरा करने की कोशिश में कई लोगों को गंभीर चोटें आई हैं.

प्लास्टिक के क्रेट पर इस चैलेंज को करने का मकसद संतुलन का प्रदर्शन करना होता है. हालांकि इसमें कई लोग विफल होकर घायल हो गए.

एक चैलेंज जिससे टूट रही हड्डियां

यह प्रतिबंध कई स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा सोशल मीडिया पर इस ट्रेंड और इसमें भाग लेने वालों के लिए खतरे के बारे में अपनी चिंताओं को जाहिर करने के बाद आया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐप पर ट्रेंड के हैशटैग की खोज करने पर अब कोई परिणाम नहीं आता है.

खोज परिणाम पृष्ठ उपयोगकतार्ओं को सूचित करता है कि यह वाक्यांश व्यवहार या सामग्री से जुड़ा हो सकता है जो हमारे दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करता है. एक सुरक्षित और सकारात्मक अनुभव को बढ़ावा देना टिक टॉक की सर्वोच्च प्राथमिकता है.

हालांकि, ट्रेंड को दर्शाने वाले कुछ वीडियो अभी भी ऐप पर दिखाई दे रहे हैं अगर उपयोगकर्ता चुनौती से जुड़े कीवर्ड की गलत वर्तनी खोजते हैं. इन वीडियो को बहुत अधिक बार देखा नहीं गया है, फिर भी वे प्रतिबंध के दायरे से बाहर और ऐप पर बने रहने में कामयाब रहे हैं.

अमेरिका में लोगों के मिल्क क्रेट चैलेंज वाले वीडियो की बाढ़ सी पिछले दिनों में आ गई थी. कई वीडियो में लोग असफल होते हुए गिरते हुए भी देखे गए. कांसास स्वास्थ्य प्रणाली विश्वविद्यालय के डॉ. चाड कैनन के मुताबिक, "ऐसा कर आप जोखिम में हैं. आपके सिर में चोट लग सकती है और खून बह सकता है."

अमेरिका में अस्पतालों की ओर से लोगों से कहा जा रहा है कि लोग कोरोना महामारी के दौरान इस चैलेंज को न करें क्योंकि अस्पतालों में पहले से बिस्तर की कमी है.

आईएएनएस

DW.COM

संबंधित सामग्री