चीनी कंपनियां जासूसी न कर लें, इसलिए कनाडा ने यह उपाय किया है | एशिया | DW | 20.05.2022

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

एशिया

चीनी कंपनियां जासूसी न कर लें, इसलिए कनाडा ने यह उपाय किया है

तकनीक के क्षेत्र में काम कर रहीं चीन की दो दिग्गज कंपनियों हुआवे और जेडटीई को कनाडा से बड़ा झटका लगा है. जासूसी के डर से कनाडा ने इन दोनों कंपनियों के 5जी उपकरणों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है.

कनाडा की सरकार ने चीनी कंपनी हुआवे और जेडटीई के बनाए 5जी उपकरणों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है. कनाडा में 5जी नेटवर्क के लिए बोली लगाने वाली कंपनियां अब इन दोनों चीनी कंपनियों के उपकरण इस्तेमाल नहीं कर पाएंगी.

कनाडा सरकार ने यह फैसला सुरक्षा कारणों से लिया है. कनाडा सरकार के नवाचार, विज्ञान और उद्योग मंत्री फ्रांकोइस-फिलिप शैम्पेन ने गुरुवार कहा कि सरकार ने कनाडा के हाई-स्पीड 5जी मोबाइल नेटवर्क से दो प्रमुख चीनी संचार कंपनियों हुआवे और जेडटीई को प्रतिबंधित करने का फैसला किया है.

मंत्री ने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों ने फैसले की "पूरी समीक्षा" की है और देश के "निकटतम सहयोगियों" के साथ सलाह-मशविरा करने के बाद यह कदम उठाया या है.

शैम्पेन ने प्रेस वार्ता में कहा, "हम कनाडाई लोगों की हमेशा रक्षा करेंगे और दूरसंचार से जुड़े अपने इंफ्रास्ट्रक्चर की सुरक्षा के लिए कोई भी आवश्यक कार्रवाई करेंगे."

पश्चिमी देशों में हुआवे और जेडटीई की तमाम प्रतिद्वंदी कंपनियां यह आरोप लगाती आई हैं कि इनके चीनी सेना के साथ घनिष्ठ संबंध हैं.

अमेरिका की एयरलाइन 5जी नेटवर्क से परेशान क्यों

नवाचार, विज्ञान और उद्योग मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "कनाडा सरकार को हुआवे और जेडटीई जैसे सप्लायर के बारे में गंभीर चिंता है, जिन्हें विदेशी सरकारों से अतिरिक्त न्यायिक निर्देशों का पालन करने के लिए मजबूर किया जा सकता है. ये निर्देश कनाडा के कानूनों के साथ टकराएंगे या कनाडा के हितों के लिए हानिकारक होंगे."

बयान में कहा गया है कि नए 5जी उपकरणों का उपयोग और प्रबंधित हुआवे और जेडटीई की सेवाएं प्रतिबंधित होंगी और मौजूदा 5जी उपकरणों को 28 जून, 2024 तक हटा लिया जाना चाहिए.

फाइव आइज अलायंस में कनाडा इकलौता देश था, जिसने अभी तक हुआवे को प्रतिबंधित नहीं किया था. इसके अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने पहले ही हुआवे को 5जी नेटवर्क से प्रतिबंधित कर दिया था.

फाइव आइज अलायंस पांच अंग्रेजीभाषी देशों अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का गठबंधन है जो एक-दूसरे से सूचनाएं साझा करते हैं.

भारत में सुपरफास्ट 5जी से जुड़ी हैं सुपर चुनौतियां

दूरसंचार कंपनी हुआवे को चीन के तकनीकी रूप से वैश्विक शक्ति बनने के प्रतीक के रूप में देखा जाता है. हालांकि, अमेरिका में यह कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए एक प्रमुख चिंता का विषय है.

एए/वीएस (एएफपी, डीपीए)

DW.COM