मोदी-बाइडेन की बातचीत, नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था पर चर्चा | भारत | DW | 09.02.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

मोदी-बाइडेन की बातचीत, नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था पर चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार उनसे फोन पर बात की. दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय मुद्दों और साझा प्राथमिकताओं पर चर्चा की है. जलवायु परिवर्तन के संबंध में सहयोग को बढ़ाने पर सहमति.

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार रात को फोन पर बात की. दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय मुद्दों के अलावा जलवायु परिवर्तन, कोरोना महामारी और म्यांमार पर भी चर्चा की. दोनों नेताओं ने कहा है कि म्यांमार में लोकतंत्र बहाल होना चाहिए. मोदी ने बाइडेन को चुनाव में कामयाबी के लिए भी शुभकामनाएं दी है. मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, "जो बाइडेन से बात की और उन्हें सफलता के लिए शुभकामनाएं दीं. हमने क्षेत्रीय मुद्दों, साझा प्राथमिकताओं पर चर्चा की. हम जलवायु परिवर्तन के खिलाफ अपने सहयोग को आगे बढ़ाने पर भी सहमत हुए."

मोदी ने ट्वीट में आगे लिखा, "राष्ट्रपति जो बाइडेन और मैं एक नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम भारत-प्रशांत क्षेत्र की शांति और सुरक्षा के लिए अपनी रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए तत्पर हैं." दूसरी ओर व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, "नेताओं ने स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए घनिष्ठ सहयोग जारी रखने पर सहमति व्यक्त की, जिसमें नेविगेशन की स्वतंत्रता, क्षेत्रीय अखंडता और क्वाड के माध्यम से एक मजबूत क्षेत्रीय वास्तुकला का समर्थन शामिल है."

हिंद-प्रशांत में चीन की बढ़ती गतिविधियों को देखते हुए अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने क्वाड नाम से समूह बनाया है. क्वाड सदस्य देशों के बीच शिखर सम्मेलन और युद्ध अभ्यास होते आए हैं. दोनों नेताओं ने कहा कि वे "वैश्विक आतंकवाद के संकट के खिलाफ एक साथ खड़े होंगे."

बाइडेन और मोदी रिश्ते मजबूत करना चाहते हैं

भारत और अमेरिका ने पिछले दशकों में ज्यादातर मैत्रीपूर्ण संबंधों को बनाए रखा है, दोनों देशों ने हाल के सालों में दक्षिण एशिया में चीन की बढ़ती उपस्थिति को देखते हुए रणनीतिक साझेदारी के तहत आपसी संबंधों को और गहरा किया है. उप राष्ट्रपति कमला हैरिस भारतीय मूल की हैं और बाइडेन प्रशासन में 20 से अधिक भारतीय अमेरिकी अहम पदों पर हैं. ऐसे में भारत एक महत्वपूर्ण आर्थिक, सुरक्षा और रक्षा द्विपक्षीय साझेदारी बनाए रखने के लिए उम्मीद लगाए हुए है.

मोदी और बाइडेन की बातचीत से पहले ही दोनों देशों के अहम मंत्रियों के बीच बातचीत हो चुकी है. पिछले महीने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने समकक्ष एंटनी जे ब्लिकेन और भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नए रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन से बात की थी. मोदी ने राष्ट्रपति बाइडेन और उप राष्ट्रपति हैरिस को जनवरी महीने शपथ ग्रहण के बाद बधाई दी थी.

पिछले साल फरवरी में डॉनल्ड ट्रंप ने भारत का दौरा किया था और उस वक्त दोनों देशों के बीच संबंध नई ऊंचाइयों पर गए थे. इसी के साथ सुरक्षा सहयोग भी बढ़ा था. भारत और अमेरिका मजबूत व्यापारिक साझेदार हैं. साल 2019 में दोनों के बीच 146 अरब डॉलर का व्यापार हुआ था.

एए/सीके (रॉयटर्स, एपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

संबंधित सामग्री