पाकिस्तान में भूकंप के तेज झटके, कई लोग मरे | दुनिया | DW | 07.10.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

पाकिस्तान में भूकंप के तेज झटके, कई लोग मरे

गुरुवार तड़के आए भूकंप में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों लोग घायल हो गए. अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक भूकंप की तीव्रता 5.7 आंकी गई.

पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा कि गुरुवार को दक्षिणी प्रांत बलूचिस्तान में आए भूकंप में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों अन्य घायल हो गए. ये झटके पाकिस्तान के हरनेई इलाके में महसूस किए गए. अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक भूकंप की तीव्रता 5.7 थी.

नींद में भूकंप के झटके

बलूचिस्तान में आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने कहा कि भूकंप गुरुवार तड़के उस समय आया जब लोग सो रहे थे. कई लोगों को जब भूकंप का पता चला तो वे अपने-अपने घरों से बाहर सड़क पर आ गए.

समाचार एजेंसी एएफपी से बात करते हुए प्रांतीय आपदा प्रबंधन के प्रमुख नसीर नासर ने कहा, "अब तक 15 से 20 लोग मारे गए हैं. मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है."

तलाशी अभियान

अधिकारियों का मानना है कि भूकंप के दौरान मकान ढहने से कई लोग मलबे में दबे हो सकते हैं. इस वजह से राहत और खोज अभियान शुरू कर दिया गया है. वरिष्ठ सरकारी अधिकारी सुहैल अनवर हाशमी ने बताया कि मरने वालों में एक महिला और छह बच्चे शामिल हैं.

सेना और सिविल एजेंसियों के कर्मचारियों को आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रयास के हिस्से के रूप में क्वेटा से बुलाया गया है.

इस बीच भूकंप के बाद आम लोग भी घायलों को अस्पताल पहुंचाने में मदद करते दिखे. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि बचाव कार्यों में मदद के लिए हेलीकॉप्टर को इलाके में भेजा जा रहा है.

ऊबड़-खाबड़ इलाके में खोज और बचाव दल के ऑपरेशन के लिए विशेष रूप से चुनौतीपूर्ण हो जाता है और राहत प्रयासों में बाधा पैदा होती है.

बिजली की कमी से अस्पताल परेशान

भूकंप के कारण इलाके की बिजली गुल हो गई है और स्थानीय सरकारी अस्पताल के कर्मचारी टॉर्च की रोशनी में काम करने के लिए मजबूर हैं. एएफपी से बात करते हुए, अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा, "ज्यादातर घायल अंगों में फ्रैक्चर के साथ आए. दर्जनों लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद वापस भेज दिया गया, जबकि गंभीर रूप से घायल 40 लोगों को एंबुलेंस में क्वेटा भेजा गया है."

पाकिस्तान एक ऐसे क्षेत्र पर स्थित है जहां टेक्टॉनिक प्लेट एक दूसरे से मिलती हैं. जब इन प्लेटों में हलचल होती है तो भूकंप के झटके बार-बार महसूस किए जाते हैं. 2015 में पाकिस्तान और अफगानिस्तान में 7.5 तीव्रता का भूकंप आया था जिसमें लगभग 400 लोग मारे गए थे.

2005 में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर 7.6 तीव्रता का भीषण भूकंप आया जिसमें 73,000 से अधिक लोग मारे गए और लाखों लोग बेघर हो गए.

एए/वीके (एएफपी, एपी, रॉयटर्स)

वीडियो देखें 02:18

कश्मीर के पैलेट पीड़ितों का दर्द

DW.COM

संबंधित सामग्री