1. कंटेंट पर जाएं
  2. मेन्यू पर जाएं
  3. डीडब्ल्यू की अन्य साइट देखें

पराली और जूट से इको-फ्रेंडली प्लास्टिक

३० जुलाई २०२२

जूट, सूखे मक्के के पौधे और फेंक दी गई टमाटर की डंडियां... कई किसान इसे कृषि कचरा मानते हैं लेकिन ये चीजें उपयोगी हो सकती हैं. एक रसायनशास्त्री तो प्लास्टिक बनाने में कच्चे तेल की जगह पिसी कॉफी का तेल इस्तेमाल करना चाहते हैं. एक सस्टेनेबल भविष्य के लिए इन प्रयोगों की बहुत अहमियत है.

https://www.dw.com/hi/an-eco-friendly-plastic-substitute-from-germany/video-60746636
डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी को स्किप करें

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी

यूक्रेन के विभाजन का एलान करते रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन

टूटते यूक्रेन पर हमला, रूस पर हमला माना जाएगा: रूस

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें को स्किप करें

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें

होम पेज पर जाएं