1. कंटेंट पर जाएं
  2. मेन्यू पर जाएं
  3. डीडब्ल्यू की अन्य साइट देखें
Niederlande Den Haah | KPN Telekommunikationsanbieter
तस्वीर: imago images/Steinach/S. Steinach
समाज

5जी विरोधियों ने फोन के टावर तोड़े, जलाए

१२ अप्रैल २०२०

नीदरलैंड्स में नया 5जी नेटवर्क लाने का विरोध कर रहे लोगों ने कई टेलीफोन टावर तोड़ दिए और उनमें आग लगा दी. ये लोग सेहत पर 5जी के संभावित के खतरों और प्राइवेसी नियमों के उल्लंघन को लेकर चिंतित हैं.

https://p.dw.com/p/3anbZ

डच अखबार द तेलिख्राफ ने खबर दी है कि प्रदर्शकारियों ने देश भर में बहुत से सेल्युलर ब्रॉडकास्टिंग टावरों को निशाना बनाया है. वे नए 5जी टेलीकम्युनिकेशन नेटवर्क का विरोध कर रहे हैं.

सेल्युलर टावर लगाने और उनकी देखरेख करने वाले एक असोसिएशन द मोनेट फाउंडेशन के निदेशक रॉब बोंगेलार ने अखबार को बताया कि रॉटरडैम, लीसेल, बीस्ड और नुएनेन जैसे शहरों में टावरों में आग लगाई गई है, उन्हें नुकसान पहुंचाया गया है.

द मोनेट फाउंडेशन केपीएन, टी-मोबाइल और वोडाफोन जैसे नेटवर्कों के लिए काम करता है और राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करता है.

ये भी पढ़िए: 5जी पर जल्द दौड़ने लगेगी दुनिया

अस्पतालों की जरूरत

बोंगेलार ने बताया "ऑपरेटर इस मुश्किल समय में जैसे तैसे मोबाइल नेटवर्क को चालू रखने की कोशिशों में लगे हैं." उन्होंने कहा कि भरोसेमंद डिजिटल नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर की उपलब्धता बहुत जरूरी है. उनके मुताबिक, "अस्पतालों और देखभाल केंद्रों को कनेक्शन की बेहद जरूरत है.. और दूसरी तरफ वे लोग हैं जिन्होंने रेडियो मास्ट जानबूझकर आग के हवाले किए हैं. समझ से परे और अस्वीकार्य."

द टेलीग्राफ ने उत्तर शहर ग्रोनिंगन में भी शुक्रवार को संभावित आगजनी की खबर दी थी. डच सरकार के सुरक्षा और आतंकवाद निरोधी केंद्र (एनसीटीवी) ने एक बयान में कहा है कि बीते हफ्ते में उसने ब्रॉडकास्टिंग एंटेनाओं के आसपास बहुत सी घटनाओं के मामले दर्ज किए हैं, इनमें आगजनी और तोड़फोड़ भी शामिल हैं. इनके पीछे 5जी प्लान के विरोध को संभावित वजह बताया गया है.

एनसीटीवी ने कहा, "यह चिंताजनक घटनाक्रम है." केंद्र का कहना है कि इसी तरह के हमले हाल में ब्रिटेन में भी देखने को मिले हैं.

स्वास्थ्य चिंताएं

नीदरलैंड्स में कई समूह कुछ समय से 5जी नेटवर्क को लाने का विरोध कर रहे हैं. उनकी चिंता इसके स्वाथ्य पर पड़ने वाले संभावित प्रभावों को लेकर है क्योंकि रेडियो तरंगें इंसानों की सेहत के लिए जोखिम पैदा कर सकती हैं.

वहीं कुछ लोगों का कहना है कि यह नेटवर्क प्राइवेसी के अधिकार का उल्लंघन कर सकता है.जनवरी में एम्सटरडैम के डैम स्क्वेयर पर लगभग सौ लोगों ने जमाकर हो कर 5जी का विरोध किया था. वे स्वास्थ्य आधार पर इसे खारिज किए जाने की मांग कर रहे थे.

नीदरलैंड्स में टेलीकॉम कंपनियां जून का इंतजार कर रही हैं जब स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी. इसके बाद ही पूरे नीदरलैंड्स में 5जी को लागू किया जाएगा. अभी यह वहां टेस्टिंग फेज में है.

रिपोर्ट: मेलिसा सोऊ-जी फान ब्रूनरसम/एके

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

इस विषय पर और जानकारी को स्किप करें

इस विषय पर और जानकारी

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी को स्किप करें

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी

तीन कश्मीरी पंडितों की हत्या

जम्मू-कश्मीर:इस साल तीन 14 अल्पसंख्यक मारे गए

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें को स्किप करें

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें

होम पेज पर जाएं