470 एमबी के इस्तेमाल पर दस लाख का बिल | लाइफस्टाइल | DW | 15.06.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

लाइफस्टाइल

470 एमबी के इस्तेमाल पर दस लाख का बिल

सोचिए कि आपका बच्चा आपके फोन पर दो चार वीडियो देख ले और थोड़ी देर बाद आपके घर पर दस लाख रुपये का बिल पहुंच जाए. जर्मनी में एक परिवार के साथ ऐसा ही हुआ है.

यह जर्मन परिवार छुट्टी मनाने के लिए क्रूज शिप पर निकला था. जर्मन शहर कील से नॉर्वे के ऑस्लो का सफर उन्होंने जहाज पर बिताया. इसी दौरान उनके 12 साल के बच्चे ने स्मार्टफोन पर कुछ वीडियो देख लिए. यहां तक तो सब ठीक था लेकिन दिक्कत यह हुई कि फोन जहाज के ही नेटवर्क से कनेक्टेड था. इंटरनेट से जुड़ने के लिए समुद्री जहाज सैटेलाइट का इस्तेमाल करते हैं. इसी के जरिए वे दूसरे जहाजों से भी संपर्क कर पाते हैं.

हालांकि कोई भी इस नेटवर्क से जुड़ सकता है लेकिन इसके लिए दाम लोकल नेटवर्क प्रोवाइडर वाले नहीं, बल्कि सैटेलाइट वाले देने पड़ते हैं. ऐसे में हर एक एमबी पर तीस यूरो यानी लगभग ढाई हजार रुपये तक का बिल आ सकता है. यूरोपीय संघ में अब रोमिंग चार्ज नहीं लगता है लेकिन समुद्र पर यह नियम लागू नहीं होता. नतीजतन 470 मेगाबाइट के इस्तेमाल पर बिल बना 12,500 यूरो यानी करीब दस लाख रुपये का.

परिवार छुट्टी मना कर घर लौटा, तो इतना बड़ा बिल देख कर होश उड़ गए. माता पिता ने फोन कंपनी से संपर्क किया और समझाने की कोशिश की कि बच्चे ने गलती से इंटरनेट कनेक्ट कर लिया. उसे नहीं पता था कि वह क्रूज शिप का नेटवर्क इस्तेमाल कर रहा है. आखिरकार फोन कंपनी ने बच्चे को ध्यान में रखते हुए थोड़ी राहत देने का फैसला लिया.

फोन कंपनी ने बिल को कम कर के 12,500 की जगह पांच हजार यूरो कर दिया गया. लेकिन यह भी कोई छोटी रकम नहीं है. अब परिवार वकील की मदद ले रहा है और इस "अनैतिक" बिल के खिलाफ अदालत में जाने पर विचार कर रहा है. वहीं क्रूज कंपनी ने कहा है कि उन्हें इस घटना पर खेद है लेकिन वे परिवार की मदद करने के लिए कुछ भी नहीं कर सकते.

आईबी/एमजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन