29 क्रिकेटरों पर फिक्सिंग का शक | खेल | DW | 13.09.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

29 क्रिकेटरों पर फिक्सिंग का शक

2009 में दक्षिण अफ्रीका में खेली गई आईपीएल के दूसरे संस्करण में 29 खिलाड़ियों पर फिक्सिंग में शामिल होने का दावा ब्रिटेन के अखबार ने किया. संडे टाइम्स के मुताबिक स्पॉट फिक्सिंग में दो ऑस्ट्रेलियाई भी शामिल हो सकते हैं.

default

ब्रिटेन के अखबार का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद और उसकी सुरक्षा यूनिट ने एक खुफिया डोसियर तैयार किया है जिसमें ऐसे खिलाड़ियों की लिस्ट तैयार की गई है जिन्होंने आईपीएल-2 में कथित तौर पर स्पॉट फिक्सिंग की. इस लिस्ट में कई बड़े खिलाड़ियों के नाम शामिल होने का शक जताया जा रहा है लेकिन इसमें पाकिस्तान या इंग्लैंड से कोई खिलाड़ी नहीं है.

दोनों देशों के खिलाड़ियों ने सुरक्षा कारणों से इंडियन प्रीमियर लीग के दूसरे संस्करण में हिस्सा नहीं लिया था. एक सूत्र के हवाले से अखबार ने लिखा है कि जिस तरह से आईपीएल-2 में सट्टेबाजी की गई उससे कई सवाल खड़े होते हैं. यह पहली बार नहीं है जब आईपीएल पर सवाल खड़े किए गए हैं. आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी भ्रष्टाचार बरतने के आरोप में निलंबित किए जा चुके हैं. इसके अलावा फ्रेंचाइजी चुने जाने के मामले में भी संदेह जताया जाता रहा है.

स्पॉट फिक्सिंग इन दिनों क्रिकेट जगत को अपनी गिरफ्त में ले चुका है. पाकिस्तान के तीन खिलाड़ियों मोहम्मद आसिफ, सलमान बट और मोहम्मद आमेर पर इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में जानबूझकर नो बॉल फेंकने के आरोप लगे हैं और इसकी एवज में उन्हें कथित रूप से पैसे दिए गए. आईसीसी ने मामले पर कोई फैसला आने तक तीनों खिलाड़ियों को निलंबित कर दिया है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links