हैमिल्टन की आंखों में धूल | खेल | DW | 25.05.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

हैमिल्टन की आंखों में धूल

लगातार बढ़त बनाए रखने के बाद आखिरी चक्कर में ब्रिटिश ड्राइवर लुइस हैमिल्टन की आंख में धूल चली गई और उन्हें एक आंख बंद कर गाड़ी चलानी पड़ी. नतीजा दूसरा नंबर.

इस दूसरे नंबर के बाद सीजन की रैंकिंग में भी 29 साल के हैमिल्टन दूसरे नंबर पर पिछड़ गए, जबकि उनके पार्टनर मर्सिडीज के निको रोजबर्ग ने मोनाको ग्रां प्री भी जीती और अब अंक तालिका में भी पहले नंबर पर पहुंच गए हैं.

हैमिल्टन का कहना है कि वह लगातार देखने की कोशिश कर रहे थे लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिल रही थी. उनका कहना है कि उनके वाइजर से होते हुए धूल अंदर घुस गई और यह सब आखिरी लैप के दौरान हुआ. इसके बाद वह बाईं आंख से नहीं देख पा रहे थे. बाद में यह ठीक तो हुआ लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी. रोजबर्ग को वह पहला नंबर हासिल करने से नहीं रोक सके लेकिन रेड बुल के ऑस्ट्रेलियाई ड्राइवर डैनियल रिकियार्डो को पीछे रखने में जरूर कामयाब रहे.

Formel 1 Monte Carlo Monaco Vettel

फेटल बीच में ही हुए बाहर

हैमिल्टन ने कहा, "अचानक बहुत तेज हवा चलने लगी. मैं निको के बहुत करीब आ गया था. लेकिन मैंने महसूस किया कि मेरी आंख में कुछ कचरा पड़ गया. इसके बाद मैं एक आंख से ही कार चला रहा था, जो आसान नहीं था. कभी कभी मुझे आंख बंद भी करनी पड़ रही थी लेकिन पांच लैप रहते यह ठीक हो गया और मैं डैनियल को पछाड़ने में कामयाब रहा."

डैनियल रिकियार्डो का कहना है कि उन्होंने आखिरी लैप में बहुत मेहनत की लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली, "मैं तेजी से बढ़ा और अपने टायर की फिक्र भी छोड़ दी. एक जगह मैंने मर्सिडीज को पछाड़ने की कोशिश की लेकिन सिर्फ तीसरा नंबर ही हासिल कर पाया."

हालांकि हैमिल्टन की परेशानी सिर्फ आंख की नहीं थी. वह अपनी टीम की रणनीति को लेकर भी बहुत खुश नहीं हैं. रोजबर्ग ने शनिवार को पोल पोजीशन हासिल की. रिपोर्टों हैं कि उनका रोजबर्ग के साथ अच्छा रिश्ता नहीं चल रहा. इस बाबत पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "आपके इस सवाल का जवाब मेरे पास नहीं है. हम एक दूसरे से बात करते हैं और आगे की राह देखते हैं."

इस बीच, लगातार चार बार के फॉर्मूला वन चैंपियन जर्मनी के सेबास्टियान फेटल के लिए मोनाको ग्रां प्री एक नाकाम रेस साबित हुई. उनकी गाड़ी रेस के शुरू में ही गड़बड़ा गई और उन्हें पिट स्टॉप लेना पड़ा. बाद में वह ट्रैक पर लौटे लेकिन फिर उन्हें बाहर हो जाना पड़ा. सिर्फ सात लैप पूरी करके वह निकल गए. मोनाको में उनकी 100वीं रेस थी, जिसमें वह कुछ नहीं कर पाए. अंक तालिका में भी वह पिछड़ कर छठे नंबर पर पहुंच गए हैं. उनके टीम साथी रिकियार्डो चौथे नंबर पर हैं, जबकि फोर्स इंडिया के निको हुल्केनबर्ग पांचवें नंबर पर. अगली रेस कनाडा के मांट्रियल शहर में आठ जून को होगी.

एजेए/एएम (एएफपी, रॉयटर्स, एपी)

विज्ञापन