हवा से बातें करते मोरेनो फिलांदी | मंथन | DW | 24.06.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

हवा से बातें करते मोरेनो फिलांदी

एक शानदार रेसिंग कार में इटली के नजारे और भी सुंदर लगते हैं. इटली के एक शख्स अपनी रेसिंग कारें खुद अपनी वर्कशॉप में बनाते हैं.

फिलांदी एवर एस एक शानदार स्पोर्ट्स कार है और इसे बनाया है मोरेनो फिलांदी ने. रेसिंग कार का सपना और मोरेनो के बीच सिर्फ पैसों का फासला था. लेकिन खाली जेब वाले मोरेनो खाली हाथ बैठने वालों में से नहीं थे. एक दिन उन्होंने अपने सपने को साकार करने का फैसला किया. पेशे से कार मेकैनिक फिलांदी कहते हैं, "एक दिन मैंने अपनी गाड़ियां खुद बनाना शुरू कर दिया. यह जबरदस्त लगता है, एक गाड़ी बिलकुल वैसा बनाना, जैसा मुझे पसंद हो, पूरी आजादी के साथ और फिर गाड़ी में बैठकर चेहरे पर हवा के झोंके को महसूस करना."

हाथों से बनाई गाड़ी

फोंतानेलीचे इलाके में अपनी वर्कशॉप में मोरेनो फिलांदी ने गाड़ी बनाई. हर छोटे पुर्जे को उन्होंने अल्यूमीनियम से अपने हाथों से बनाया है. उनकी गाड़ी के लिए लोगो है बब्बर शेर का सिर. गाड़ी के दरवाजे ऊपर को खुलते है. 1950 के दशक में मर्सीडीस 330 एसएल रेसिंग कार के दरवाजे ऐसे ही थे. बाकी डिजाइन मोरेनो के अपने हैं. अपनी कार के बारे में वह कहते हैं, "यह मेरा स्टाइल है, किसी को पसंद आए न आए. मैंने दिल से बनाया है, बस मुझे पसंद आनी चाहिए. मेरे लिए यह कलाकृति है और यह अपने तरह का एक ही मॉडेल है. मैं कार निर्माता नहीं, मैं तो कला बनाता हूं."

रोजगार के लिए मोरेनो दुर्घटनाग्रस्त कारों पर काम करते हैं और मोटरों की ट्यूनिंग करते हैं. खाली वक्त सारा सपनों की गाड़ी बनाने में निकल जाता है. 1990 की मर्सीडीस 500 एसएल को उन्होंने अपने रेसिंग कार का आधार बनाया. बाहरी हिस्सा उन्होंने पूरा अपनी तरह से बदला. 2008 में उन्होंने एक दूसरी कार बनाई और उसका नाम रखा उरागानो, इटैलियन में तूफान. चार साल की कड़ी मेहनत और 12,000 यूरो के खर्चे से निकला यह करिश्मा. फेरारी या पोर्शे में कई लाख यूरो खर्च हो जाते हैं. उरागानो उनके मुकाबले सस्ती है और तेज भी, तूफानी कार एक घंटे में 340 किलोमीटर तय कर सकती है. 600 हॉर्सपावर की गाड़ी का राज है एक पुराने आउडी वी8 की मोटर जिसे एक ट्रक के टर्बोचार्जर से जोड़ा गया है. बाकी सब कुछ मोरेनो के हाथों का कमाल है.

मेकैनिक नहीं, कलाकार

मोरेनो की गाड़ियों को प्रदर्शनियों में भी शामिल किया गया है. जैसे फ्लोरेंस के एक शो में, जहां बस प्रयोग में बनी गाड़ियां दिखाई जाती हैं. गाड़ी खरीदने के लिए कई ऑफर भी आए. मोरेनो कहते हैं, "मैंने कभी भी अपनी कारों को बेचने के बारे में नहीं सोचा. यह मेरा जुनून हैं, इनमें मैंने बहुत वक्त लगाया है और मैं इन्हें अपने आप से कभी भी अलग होने नहीं दूंगा." मोरेनो चाहते हैं कि लोग उन्हें और उनके एवर एस को देखें. सबसे ज्यादा मजा उन्हें तब आता है जब लोग उनकी गाड़ी के बारे में सवाल करते हैं.

रिपोर्टः मिषाएल काडेराइट/एमजी

संपादनः ईशा भाटिया

संबंधित सामग्री

विज्ञापन