हमारे हितों के लिए खतरा है बब्बर खालसा: अमेरिका | दुनिया | DW | 06.10.2018

डीडब्ल्यू की नई वेबसाइट पर जाएं

dw.com बीटा पेज पर जाएं. कार्य प्रगति पर है. आपकी राय हमारी मदद कर सकती है.

  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

हमारे हितों के लिए खतरा है बब्बर खालसा: अमेरिका

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के प्रशासन ने आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा को अमेरिका और उसके हितों के लिए खतरा बताया है. 1980 और 1990 के दशक में कुछ बड़े हमले किए.

वाशिंगटन में व्हाइट हाउस की ओर से जारी आतंकवाद रोधी राष्ट्रीय नीति में कहा गया कि बब्बर खालसा भारत और अन्य जगहों पर आतकंवादी हमलों के लिए जिम्मेदार है और इसन कई निर्दोषों की जान ली है.

ट्रंप प्रशासन की ओर से जो सूची जारी की गई है, उसमें तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान और लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) का भी नाम है, जो अमेरिका के लिए संभावित खतरा हैं.

आखिर क्या हुआ फ्लाइट AI 182 के साथ

अमेरिकी विदेश और वित्त विभागों ने बब्बर खालसा इंटरनेशनल और अंतर्राष्ट्रीय सिख युवा संघ को 2002 में और लश्कर-ए-तैयबा को 2001 में आतंकवादी संगठनों के रूप में सूचीबद्ध किया था.

इस दस्तावेज को अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बॉल्टन ने जारी किया. उन्होंने न सिर्फ आतंकवादियों को अमेरिका के लिए सीधा खतरा बताया बल्कि विदेशों में अलगाववादी गतिविधियोंको भी खतरा बताया जो समाज में हिंसा और अस्थिरता लाने की कोशिश करते हैं. हालांकि, उनका प्राथमिक फोकस इस्लामिक स्टेट (आईएस) और अल कायदा व उनके सहयोगियों और ईरान से जुड़े आतंकवादी समूहों पर था.

आईएएनएस

 

संबंधित सामग्री