हमसे ना उठ पाएगी वर्ल्ड कप ट्रॉफी: पुतिन | वर्ल्ड कप 2014 | DW | 06.06.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

वर्ल्ड कप

हमसे ना उठ पाएगी वर्ल्ड कप ट्रॉफी: पुतिन

रूस फुटबॉल वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहा है. लेकिन रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन बड़ी ईमानदारी से स्वीकार कर रहे हैं कि वर्ल्ड कप जीतना उनकी टीम के बस की बात नहीं.

व्लादिमीर पुतिन चाहते हैं कि रूस वर्ल्ड कप की बेहतरीन ढंग से मेजबानी करे. दुनिया भर से आने वाले फैंस रूस की मेहमाननवाजी का लुत्फ उठाएं. एक चाइनीज मीडिया ग्रुप से बातचीत के दौरान रूसी राष्ट्रपति ने माना कि वर्ल्ड कप रूस को टूरिज्म मैप पर चमका सकता है. पुतिन ने कहा, रूस "वर्ल्ड कप को दुनिया भर के लाखों फुटबॉल प्रेमियों के लिए असली मेले में बदलने की कोशिश करेगा."

लेकिन जब राष्ट्रपति से यह पूछा गया कि उनकी टीम की वर्ल्ड कप की दावेदारी कितनी मजबूत है तो पुतिन ने जवाब दिया, "दुख की बात है कि हाल के समय में हमारी टीम ने बहुत अच्छे नतीजे नहीं देखे. लेकिन रूस के सभी फुटबॉल फैन्स की तरह हमें भी उम्मीद है कि हमारी टीम अच्छा खेल दिखाएगी...और वो अंत तक कड़ा मुकाबला करेगी."

रूस में पहली बार फुटबॉल वर्ल्ड कप का आयोजन हो रहा है. 14 जून से 15 जुलाई तक चलने वाले फुटबॉल के इस महाकुंभ में 32 टीमें ट्रॉफी के लिए संघर्ष करेंगी. मैच रूस के 11 शहरों में होंगे. वर्ल्ड कप से ठीक पहले ज्यादातर टीमें फ्रेंडली मैच खेल रही हैं. रूस 2018 में अब तक कोई मैच नहीं जीत सका है. 5 जून को खेले गए आखिरी फ्रेंडली मैच में भी तुर्की ने मेजबान देश को 1-1 पर रोक दिया. पुतिन के जवाब पर इन नतीजों का असर दिखाई दिया.

वर्ल्ड कप कौन जीतेगा, इस बात पर दुनिया भर के खेल प्रेमी चर्चा कर रहे हैं और अटकलें लगा रहे हैं. पुतिन को लगता है कि ब्राजील, अर्जेंटीना, स्पेन और जर्मनी में से कोई एक विश्व कप जीत सकता है, "पुराने वर्ल्ड कपों में जर्मन टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और स्पेनिश टीम भी शानदार किस्म का फुटबॉल खेलती है. इनके साथ ही कुछ और भी दावेदार होंगे, लेकिन जीत सर्वश्रेष्ठ टीम की ही होगी."

(अब तक 8 देश ही जीत सके हैं फुटबॉल विश्वकप)

ओएसजे/एमजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन