स्वराज पॉल समेत 3 एशियाई सांसद निलंबित हो सकते हैं | दुनिया | DW | 18.10.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

स्वराज पॉल समेत 3 एशियाई सांसद निलंबित हो सकते हैं

ब्रिटीश संसद की ऊपरी सदन हाउस ऑफ लॉर्ड्स की विशेषाधिकार कमेटी ने लॉर्ड स्वराज पॉल समेत तीन एशियाई सांसदों को निलंबित करने का प्रस्ताव रखा है. तीनों पर बिना जरूरत सांसदों को मिलने वाले भत्ते हासिल करने का आरोप.

default

हालांकि कमेटी ने अपने प्रस्ताव में कहा है कि वो नहीं मानती कि इन लोगों ने ये भत्ते बेइमानी की नीयत से लिए. बांग्लादेश में जन्मे बारोनेस मंजिला पोला उद्दीन को 18 महीने के लिए निलंबित करने की बात है. उन्हें 1 लाख 25 हजार पाउंड वापस भी करने होंगे. बांग्लादेशी मूल के ही दूसरे सांसद लॉर्ड अमीराली भाटिया को आठ महीने के लिए निलंबित किया जाएगा जबकि भारतीय मूल के लॉर्ड स्वराज पॉल को 4 महीने के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव रखा गया है. इन तीनों सांसदों ने लंदन से बाहर रहने के नाम पर सरकार से भत्ते वसूले हैं.

विशेषाधिकार कमेटी के इस प्रस्ताव को अमल में लाने से पहले संसद में 21 अक्टूबर को चर्चा होगी उसके बाद ही अंतिम फैसला किया जाएगा. लॉर्ड स्वराज पॉल के बारे में कमेटी का कहना है,"हमें नहीं लगता कि शिकायतें पूरी तरह सही हैं, हम ये भी मानते है कि ये लॉर्ड पॉल ने बेइमानी की नीयत से ये सब नहीं किया. हालांकि इसके बावजूद उन्होंने जो किया वो उचित नहीं है और इससे उनकी लापरवाही और गैरजिम्मेदार रवैये का पता चलता है."

उधर स्वराज पॉल ने अपने बयान में कहा है कि उनकी इमानदारी और सच्चाई की कद्र करने के बाद भी उनके साथ बुरा सलूक किया जा रहा है. लॉर्ड पॉल ने याद दिलाया है कि एक साल पहले एक अखबार ने उन पर आरोप लगाते हुए एक खबर छापी थी. तब उन्होने खुद इस मामले में जांच के लिए अनुरोध किया और फिर उसके बाद 2005-06 में लिए 40,000 पाउंड की रकम वापस कर दी.

भारतीय मूल के उद्योगपति लॉर्ड स्वराज पॉल का कहना है कि इन भत्तों से जुड़े नियमों में इस साल जुलाई में बदलाव किए गए. उनका मानना है कि कमेटी 2010 में बने नियमों को 2005 के लिए लागू नहीं कर सकती. लॉर्ड पॉल ने कहा,"मैं दुखी हूं मुझे लगता है कि कमेटी मेरे साथ ज्यादा सख्ती से पेश आई है." हालांकि इसके बावजूद उन्होंने संसदीय लोकतंत्र की बेहतरी के लिए कमेटी के फैसले को मानने का मन बना लिया है.

उधर लॉर्ड भाटिया ने भी कहा है कि उन्होंने भत्ते लेने में हमेशा नियमों का पालन किया है. पिछले महीने ही उन्होंने 27,000 पाउंड की रकम वापस चुकाई है जो उन्होंने पहले ज्यादा ले लिए थे.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः एमजी

DW.COM

WWW-Links