स्टेफोर्ड ने अमेजन नदी का ऐतिहासिक सफर पूरा किया | दुनिया | DW | 09.08.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

स्टेफोर्ड ने अमेजन नदी का ऐतिहासिक सफर पूरा किया

ब्रिटेन के एक व्यक्ति ने साहसिक यात्रा का कीर्तिमान बनाया. 34 साल के इड स्टेफोर्ड ने अमेजन नदी के पूरे तट का पैदल सफर किया. सवा दो साल की यात्रा में खूंखार तेंदुएं और डरावने एनाकोंडा भी उनकी हिम्मत तोड़ नहीं पाए.

default

34 साल के इड स्टेफोर्ड की कहानी दुनिया के सबसे घने और डरावने जंगलों से निकलकर बनी है. ब्रिटिश आर्मी के पूर्व कैप्टन ने सोमवार को असंख्य खतरों से लड़ते हुए अमेजन नदी का ऐतिहासिक सफर पूरा किया. ब्राजील के मारुडा तट पर अमेजन नदी समंदर से मिलती है और वहां पहुंच कर स्टेफोर्ड भी इतिहास में दर्ज हो गए. उन्हें यह सफर पूरा करने में 859 दिन लगे.

स्टेफोर्ड ने अप्रैल 2008 में पेरु के माउंट मिसमी से अपनी यात्रा शुरू की. अमेजन नदी के घने जंगलों से गुजरते हुए उन्होंने 9,650 किलोमीटर की पैदल यात्रा की. रास्ते में आए खतरों के बारे में वह कहते हैं, ''50 हजार बार मच्छरों का काटना, जंगल में आदिवासियों के हमले झेलना और महाद्वीप की बीमारियों से लड़ना, अमेजन की यात्रा यही है.'' नामुमकिन को मुमकिन बनाने वाले इस सफर में स्टेफोर्ड ने खूंखार पिरान्हा मछलियां, बिच्छू, सांप और चीटियां खाईं.

Südamerika Peru Landschaft

स्टेफोर्ड मानसिक रूप से अब भी दृढ़ हैं लेकिन उनके शरीर की दशा बिगड़ी हुई है. यात्रा के आखिरी पड़ाव में वह झाड़ियों में उलझकर गिर पड़े और काफी देर तक बेहोश रहे. इसके बाद उन्होंने कहा, ''मंजिल के इतने करीब आकर शरीर ने मेरा साथ छोड़ दिया है.'' लेकिन यह कष्ट भी अमेजन जैसी नदी के अविरल प्रवाह बन कर बह रहे पूर्व फौजी के जोश को नहीं तोड़ सके.

स्टेफोर्ड चाहते हैं कि अमेजन नदी और उसके आस पास का पर्यावरण जिंदा रहे. हैरतंगेज सफर शुरू करते वक्त ब्रिटेन के लुक कोलियर उनके साथ थे, लेकिन शुरूआत में ही कोलियर गड़बड़ा गए. इसके बाद स्टेफोर्ड ने अकेले सफर किया. जुलाई 2008 में पेरु के वन विभाग के एक कर्मचारी गाडिएल चो सांखेज रिवेरा का साथ मिला. रिवेरा ने स्टेफोर्ड से कहा कि वह पांच दिन उनके साथ चलना चाहते हैं. पांच दिन का साथ अब तक जारी है. दोनों ने साथ में यात्रा पूरी की.

Brasilien Amazonas Dürre

सूख रहा अमेजन का बाग

रिवेरा के साथ ने उनकी बड़ी मदद की. एक जगह आदिवासियों ने स्टेफोर्ड पर तीरों से हमला किया, तब रिवेरा ने बड़ी सावधानी से तीर निकाले और जंगली जड़ी बूटियों के इस्तेमाल किया. दुश्वारियों के बारे में स्टेफोर्ड कहते हैं, ''सभी विशेषज्ञों ने कह दिया था कि यह यात्रा अंसभव है, लेकिन हमने यह कर दिखाया.''

यात्रा के दौरान स्टेफोर्ड लैपटॉप और सैटेलाइट कनेक्टिंग सिस्टम साथ ले गए. उन्होंने ढेरों तस्वीरें और वीडियो लिए, इनके जरिए पता चल रहा है कि नदी और उसकी हरियाली कितनी भारी मुसीबत में है. अमेजन के जंगलों में लकड़ी माफिया भी है, स्टेफोर्ड की वजह से अब यह जानकारी भी पुख्ता ढंग से सामने आई है. लंबाई के मामले में अमेजन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी नदी है. इसकी लंबाई 6,400 किलोमीटर है. लेकिन आकार और विविधता के आधार पर इसे दुनिया की सबसे बड़ी नदी कहा जाता है. स्टेफोर्ड ने पूरे सफर की जानकारी अपने ब्लॉग में दी है. उनके ब्लॉग का नाम है: www.walkingtheamazon.com

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

WWW-Links

विज्ञापन