सायना की ब्रैंड वैल्यू ने छलांग लगाई | खेल | DW | 01.07.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सायना की ब्रैंड वैल्यू ने छलांग लगाई

अपनी झोली में लगातार तीन खिताब डालने के बाद भारत की बैडमिंटन स्टार सायना नेहवाल का सितारा बुलंदियों पर है. हाल ही में इंडोनेशिया ओपन जीतने वाली सायना की ब्रैंड वैल्यू जबरदस्त छलांग लगाकर 30 लाख तक पहुंच गई है.

default

ब्रैंड पर नजर रखने वाले हरीश बिजूर मानते हैं कि इंडोनेशियन ओपन जीतने से पहले सायना ब्रैंड की कीमत छह से दस लाख थी लेकिन अब वह 30 लाख पहुंच गई है. बिजूर के मुताबिक सायना ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन इसी तरह जारी रखा तो उनकी ब्रैंड वैल्यू करोड़ों तक पहुंचने में देर नहीं लगेगी. "अगर वर्ल्ड बैडमिंटन में सायना नंबर एक खिलाड़ी बन जाती हैं तो उनके ब्रैंड की कीमत एक करोड़ तक पहुंच जाएगी. पहले उन्हें ज्यादा भाव नहीं दिया जा रहा था लेकिन अब वह तीसरी रैंकिंग तक पहुंच गई हैं."

हाल के सालों में सायना नेहवाल और सानिया मिर्जा ऐसी खिलाड़ी के रूप में उभरी हैं जिन्होंने क्रिकेट के दीवाने देश में अपनी एक पहचान बनाई है. सानिया मिर्जा ने भारतीय टेनिस जगत में खलबली मचाई लेकिन पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक से शादी के बाद उनकी चमक फीकी पड़ती जा रही है. हरीश बिजूर के मुताबिक सानिया मिर्जा की ब्रैंड वैल्यू घटकर 15 लाख तक पहुंच गई है. बिजूर मानते हैं कि शादी करने का फैसला सानिया के लिए सही साबित नहीं हुआ और इससे उनकी छवि को थोड़ा नुकसान पहुंचा.

सानिया मिर्जा की शादी से ठीक पहले कैडबरी कंपनी ने स्पष्ट कर दिया था कि सानिया के साथ वह अपना कॉन्ट्रैक्ट आगे नहीं बढ़ाएगी. वहीं सायना नेहवाल को स्पांसर करने वाले डेक्कन चार्जर्स से जुड़े सूत्रों ने बताया कि कम से कम 12 बहुराष्ट्रीय कंपनियां सायना नेहवाल के साथ कॉन्ट्रैक्ट करने को तैयार हैं लेकिन सायना का ध्यान अभी पैसे पर नहीं है.

डेक्कन चार्जर्स के सूत्र ने पीटीआई को बताया, "इस वक्त न तो सायना पैसा कमाना चाहती है और न ही हम. सायना को अभी ओलंपिक में जीत हासिल करनी है. उसके लिए जबरदस्त अभ्यास की जरूरत है. अगर प्रैक्टिस के बीच में उन्हें थोड़ा समय मिलता है तो वह कुछ ब्रैंड के प्रचार के लिए समय निकाल सकती हैं."

बिजूर का कहना है कि टेनिस की तुलना में बैडमिंटन को भारत में प्रशंसा कम ही मिलती है और शायद यही कारण है कि तीसरे नंबर की खिलाड़ी बनने के बावजूद सायना नेहवाल की ब्रैंड वैल्यू अब भी कम है. सायना की तुलना में सानिया मिर्जा की ब्रैंड वैल्यू उनकी सफलता के दौर में जबरदस्त थी जबकि टेनिस जगत में उनकी रैंकिंग सिर्फ 50वीं थी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

संबंधित सामग्री

विज्ञापन