सऊदी अरब में औरतें देख सकेंगी स्टेडियम में मैच | दुनिया | DW | 30.10.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सऊदी अरब में औरतें देख सकेंगी स्टेडियम में मैच

अगले साल से सऊदी अरब में महिलाओं को स्टेडियम जा कर मैच देखने की अनुमति मिल जायेगी. पिछले महीने ही इस रूढ़िवादी देश में महिलाओं को ड्राइविंग का अधिकार देने का भी एलान हुआ.

सऊदी अरब के जनरल स्पोर्ट्स अथॉरिटी ने कहा है कि अगले साल यानी 2018 की शुरुआत से महिलाओं को खेलों के मैदान में जाने की छूट होगी. फिलहाल तीन स्टेडियमों में यह सुविधा देने की घोषणा की गयी है. अब तक महिलाओं के स्टेडियम जा कर खेलने पर पाबंदी है. इसके लिए जेद्दा, दम्माम और रियाद में स्टेडियमों को इस तरह से तैयार किया जा रहा है कि उनमें परिवारों को लाया जा सके. रविवार देर रात सऊदी अरब की सरकारी समाचार एजेंसी में अथॉरिटी का यह बयान आया.

पिछले महीने सऊदी सरकार ने एलान किया कि अगले साल जून से महिलाओं को कार चलाने की इजाजत दी जाएगी. सऊदी अरब दुनिया का अकेला देश है जहां महिलाओं को गाड़ी चलाने की आजादी नहीं है लेकिन अब उसे बदला जा रहा है. महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस देने की तैयारी की जा रही है.

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने विजन 2030 कार्यक्रम तैयार किया है जिसमें सऊदी अरब की जीवनशैली में काफी बदलाव करने की बात कही गयी है. एक सख्त रुढ़िवादी सु्न्नी इस्लामी देश में महिलाओं की आजादी पर कई पाबंदियां है. प्रिंस सलमान इसे बदलना चाहते हैं, साथ ही देश की अर्थव्यवस्था की तेल उत्पादन पर निर्भरता को भी कम करने की तैयारी की जा रही है. बीते हफ्ते ही सऊदी अरब ने एक महिला रोबोट को अपने देश की नागरिकता भी दी है. इस रोबोट की वेशभूषा भी काफी आधुनिक है और इसे सऊदी अरब के बदलते मिजाज की बानगी कहा जा रहा है.

एनआर/एके (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन