1. कंटेंट पर जाएं
  2. मेन्यू पर जाएं
  3. डीडब्ल्यू की अन्य साइट देखें
समाजश्रीलंका

श्रीलंका: सोचा नहीं था, 'मेरे देश' का यह हाल होगा

१८ जुलाई २०२२

डिलान सिंप्सन इंजीनियर बनना चाहते हैं और इसके लिए उन्होंने पढ़ाई भी शुरू कर दी. लेकिन तभी उनका देश श्रीलंका संकट में घिर गया. फिर तो डिलान की डिग्री भी अधर में लटक गई और जिंदगी ने उनके हाथ में ऑटो रिक्शा थमा दिया.

https://www.dw.com/hi/%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80%E0%A4%B2%E0%A4%82%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%B8%E0%A5%8B%E0%A4%9A%E0%A4%BE-%E0%A4%A8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%82-%E0%A4%A5%E0%A4%BE-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%B0%E0%A5%87-%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%AF%E0%A4%B9-%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%B2-%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%97%E0%A4%BE/video-62403620
डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी को स्किप करें

डीडब्ल्यू की टॉप स्टोरी

डॉक्टर स्वांते पेबो

आदिमानव का जीनोम खोजने वाले वैज्ञानिक को नोबेल पुरस्कार

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें को स्किप करें

डीडब्ल्यू की और रिपोर्टें

होम पेज पर जाएं