′व्हाइट पेले′ होंगे गोआ के कोच | खेल | DW | 03.09.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

'व्हाइट पेले' होंगे गोआ के कोच

व्हाइट पेले के नाम से मशहूर ब्राजीलियाई फुटबॉलर जिको भारत में शुरू हो रही फुटबॉल की इंडियन सुपर लीग में गोआ की टीम को कोच करेंगे. लीग में भारत के उद्योगपतियों से लेकर कई नए पुराने अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी जुड़ रहे हैं.

ब्राजीलियाई फुटबॉल स्टार रह चुके जिको बतौर खिलाड़ी तीन विश्व कप में हिस्सा ले चुके हैं और दुनिया भर की कई फुटबॉल टीमों के कोच रह चुके हैं. 12 अक्टूबर से शुरू हो रही इंडियन सुपर लीग 10 हफ्तों तक चलेगी. जिको इसमें गोआ की टीम को कोच करेंगे.

क्रिकेट के लिए दीवाने देश भारत में फुटबाल को लोकप्रिय बनाने की यह अपने आप में अब तक की सबसे बड़ी मुहिम है जिसे क्रिकेट की इंडियन प्रीमियर लीग की तर्ज पर आयोजित किया जा रहा है.

गोआ फ्रैंचाइस के मुताबिक 1978 से 1986 तक विश्व कप मुकाबलों में शानदार प्रदर्शन करने वाले जिको ने इस करार पर रियो दे जनेरो में हस्ताक्षर किए. फ्रैंचाइस द्वारा जारी बयान में कहा गया है, "एफसी गोआ इस बात पर गर्व महसूस करता है कि मशहूर पूर्व ब्राजीलियाई खिलाड़ी जिको इंडियन सुपर लीग में उनकी टीम को कोच करने के लिए तैयार हो गए हैं." टीम के मालिक गोआ के कुछ फुटबॉल प्रेमी उद्योगपति हैं. टीम के प्रतिनिधि जल्द ही ब्राजील जाएंगे जहां वे जिको को वीसा संबंधी औपचारिकताएं पूरी करने में मदद करेंगे.

इससे पहले भी फुटबॉल जगत से कुछ बड़े नामों के इंडियन सुपर लीग में बतौर खिलाड़ी या बतौर कोच जुड़ने की खबरें आ चुकी हैं. इटली के स्टार स्ट्राइकर अलेसांद्रो डेल पियेरो दिल्ली डायनामोज की टीम के साथ जुड़ गए. डेल पियेरो आईएसएल के ब्रांड एम्बेसडर भी होंगे. इनके अलावा अन्य नाम हैं जर्मन फुटबॉलर मानुएल फ्रीडरिष, इंग्लैंड के गोलकीपर डेविड जेम्स और न्यू कासल यूनाइटेड के स्ट्राइकर माइकल चोपड़ा.

हाल में आई रैंकिंग के मुताबिक भारत फुटबॉल के मामले में फिलहाल दुनिया में 150वें स्थान पर है. फुटबॉल की अंतरराष्ट्रीय संस्था फीफा के अध्यक्ष सेप ब्लाटर ने भारत को सोते हुए हाथी के रूप में संबोधित किया था. लेकिन भारत में ही फुटबॉल की इंग्लिश प्रीमियर लीग के चाहने वाले भी खूब हैं जो इसके मैच बड़े शौक से देखते हैं. टीमों के मालिक उम्मीद कर रहे हैं कि वे इंडियन सुपर लीग को क्रिकेट की आईपीएल की तरह लोकप्रिय बनाने में कामयाब होंगे.

एसएफ/एएम (एएफपी)

DW.COM

विज्ञापन