विमान जैसी सुविधाओं से लैस होगी देश की पहली प्राइवेट ट्रेन | भारत | DW | 09.07.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

विमान जैसी सुविधाओं से लैस होगी देश की पहली प्राइवेट ट्रेन

भारतीय रेल की पटरियों पर अब देश की पहली प्राइवेट ट्रेन चलाई जाएगी. तेजस एक्सप्रेस नाम की इस ट्रेन में विमान की तरह मनोरंजन और जानकारी के लिए हर सीट पर एलसीडी स्क्रीन लगी होगी.

देश में निजी कंपनियों द्वारा संचालित पहली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस लखनऊ और दिल्ली के बीच चलाई जाएगी. रेलवे बोर्ड ऐसे दूसरे मार्गों पर भी विचार कर रहा है और वह भी 500 किलोमीटर के क्षेत्र में होगा. अपनी यूनियनों के विरोध प्रदर्शनों के बावजूद रेलवे अपनी दो ट्रेनों के संचालन को निजी क्षेत्र में देने के 100 दिवसीय एजेंडा पर आगे बढ़ रहा है.

दिल्ली-लखनऊ मार्ग पर तेजस एक्सप्रेस की घोषणा 2016 में हुई थी और हाल ही में इसकी नई टाइम टेबल की घोषणा की गई. तेजस एक्सप्रेस (ट्रेन संख्या 12585) सुबह 6.50 बजे लखनऊ जंक्शन से निकल कर दोपहर 1.35 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी. वहीं वापसी के समय नई दिल्ली से दोपहर 3.35 बजे निकल कर लखनऊ जंक्शन रात 10.05 बजे पहुंचेगी. यह ट्रेन रविवार और गुरुवार छोड़कर सभी दिन चलेगी.

ट्रेन की निगरानी इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) को दी जाएगी, जो इसका भुगतान करेगी. रेलवे के एक अधिकारी ने कहा, "इन दो ट्रेनों को प्रायोगिक तौर पर दिया गया है और इनका संचालन 100 दिनों के अंदर शुरू होगा. हम ऐसे मार्गो की पहचान कर रहे हैं जिन पर ज्यादा लोग यात्रा करते हों और महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल हों. दूसरी ट्रेन के लिए भी मार्ग जल्द तय किया जाएगा."

तेजस में यात्रियों को प्रीमियम सेवाएं और सुविधाएं दी जाएंगी. ट्रेन में विमान की तरह व्यक्तिगत एलसीडी एंटरटेनमेंट-कम-इंफर्मेशन स्क्रीन, ऑन बोर्ड वाई-फाई सेवा, आरामदायक सीटें, मोबाइल चार्जिग, व्यक्तिगत रीडिंग लाइट्स, मोड्यूलर बायो-टॉयलेट और सेंसर टेप फिटिंग की सुविधाएं होंगी.

लखनऊ-दिल्ली मार्ग पर फिलहाल स्वर्ण शताब्दी समेत 53 ट्रेनें चलाई जाती हैं. प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हालांकि राजधानी ट्रेन की कोई सेवा नहीं है.

_______________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

एए/आरपी (आईएएनएस)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन