विकीलीक्स के खुलासे से पहले हड़कंप | जर्मन चुनाव 2017 | DW | 28.11.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

विकीलीक्स के खुलासे से पहले हड़कंप

विकीलीक्स वेबसाइट की तरफ से लाखों गोपनीय अमेरिकी राजनयिक दस्तावेज जारी किए जाने से पहले कूटनीतिक हलकों हड़कंप मचा है. अमेरिका को दस्तावेज जारी होने से कई देशों से रिश्ते बिगड़ने का अंदेशा है.

default

असांजे

जिन देशों से अमेरिकी रिश्ते खराब होने की आशंका जताई जा रही है उनमें ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, कनाडा, इस्राएल और तुर्की जैसे अहम सहयोगी देश शामिल हैं. अमेरिकी राजनयिक कई दिनों से विकीलीक्स के खुलासे के बाद होने वाले नुकसान को कम से कम करने में जुटे हैं.अमेरिकी विदेश विभाग ने विकीलीक्स से कहा है कि अगर वह गोपनीय दस्तावेज जारी करेगा तो इससे बेशुमार लोगों की जान खतरे में पड़ सकती है, अमेरिकी सुरक्षा के लिए चुनौतियां पैदा होंगी और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर वैश्विक सहयोग भी प्रभावित होगा.

Wikileaks / Julian Assange / Irak / USA / London

वैसे अमेरिकी सरकार ने विकीलीक्स से बातचीत को खारिज किया है. अमेरिकी विदेश विभाग के कानूनी सलाहकार हेरोल्ड कोह ने विकीलीक्स के संस्थापक जुलियन असांजे और उनके वकील को लिखे पत्र में कहा, "हम गैर कानूनी रूप से हासिल किए गए अमेरिकी सरकार के दस्तावेजों को जारी करने के बारे में कोई बातचीत नहीं करेंगे." अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि असांजे की तरफ से शुक्रवार को अमेरिकी विदेश विभाग को भेजे गए पत्र के जवाब में यह खत भेजा गया है जिसमें अमेरिकी चिंताओं का जिक्र किया गया है.

अपने पत्र में असांजे उन लोगों के बारे में जानकारी चाहते हैं जो विकीलीक्स के कदमों से प्रभावित हो सकते हैं. यह अभी साफ नहीं है कि असांजे ने पत्र में और क्या क्या बातें कही हैं. इस बीच एक फ्रेंच वेबसाइट ने खबर दी है कि रविवार को जीएमटी के मुताबिक रात साढे नौ बजे गोपनीय दस्तावेजों को जारी किया जा सकता है. पश्चिमी जगत के कई मीडिया वेबसाइटों पर एक साथ इन दस्तावेजों को जारी किए जाने की योजना है. फ्रेंच वेबसाइट का कहना है कि अमेरिका का अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स, ब्रिटेन का अखबार द गार्डियन, जर्मनी की पत्रिका डेयर श्पीगल, स्पेन का अखबार अल पेस और फ्रांस का अखबार ला मोंडे इन दस्तावेजों को जारी करेंगे. श्पीगल ने तो शनिवार को थोड़ी देर के लिए अपनी वेबसाइट पर दस्तावेजों को जारी भी किया लेकिन जल्दी ही उन्हें हटा लिया. इससे पहले विकीलीक्स इराक और अफगानिस्तान युद्ध से जुड़े बेशुमार गोपनीय दस्तावेज जारी कर चुकी है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links